(बलिया)यूपी के बलिया जिले के नगरा क्षेत्र के श्री नरहेजी स्नातकोत्तर महाविद्यालय नरही में राष्ट्रीय सेवा योजना की स्वयंसेवी छात्र छात्राओं द्वारा बुधवार को महाविद्यालय सभागार में स्वामी विवेकानंद की जयंती युवा दिवस के रूप में मनाई। कार्यक्रम का शुभारम्भ प्राचार्या डॉ सुशीला सिंह ने मां सरस्वती एवं स्वामी विवेकानंद के छायाचित्र पर दीप प्रज्ज्वलित व माल्यार्पण कर किया। प्राचार्या ने युवा दिवस के महत्व को बताते हुए कहा कि हमें सूर्य की तरह उगना और संसार को प्रकाश देने का कार्य करना होगा। हम सभी मिलकर कार्य करेंगे तो अपने महाविद्यालय, समाज,राष्ट्र को अच्छा बना सकते है।प्राचार्या ने कहा कि स्वामी जी एक प्रभावशाली व्यक्ति थे। उन्होंने अमेरिका स्थित शिकागो में सन् 1893 में आयोजित विश्व धर्म महासभा में भारत की ओर से सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व किया था। विवेकानंद ने अमेरिका, इंग्लैंड और यूरोप में हिंदू दर्शन के सिद्धांतों का प्रसार किया, सैकड़ों सार्वजनिक और निजी व्याख्यानों का आयोजन किया। भारत में विवेकानंद को एक देशभक्त संत के रूप में माना जाता है और उनके जन्मदिन को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। एनएसएस की छात्राएं साधना चौहान, अंजली, पिंकी व साधना यादव ने भी स्वामी जी के जयंती पर प्रकाश डाला।इस अवसर पर कार्यालय अधीक्षक राजेश सिंह, प्रदीप मिश्र सहित महाविद्यालय का समस्त शिक्षक कर्मचारी उपस्थित रहे। संचालन कार्यक्रम अधिकारी डॉ श्वेता सिंह व डॉ शोभा मिश्रा ने आभार व्यक्त किया।