आजमगढ़। मुबारकपुर से अबुल फैज की रिपोर्ट

दूसरी महिला के प्रेमजाल में फंस कर उसे अपना बनाने की चाह रखने वाले निजी चिकित्सक ने रास्ते में रोड़ा बनी पहली पत्नी का काम तमाम करने की योजना बनाकर पेशेवर बदमाशों से मिलकर उस पर जानलेवा हमला करा दिया। इस काम के लिए लगाए गए बदमाशों को भुगतान करने वाराणसी से आए चिकित्सक को पुलिस ने हमलावर बदमाशों के साथ बुधवार की दोपहर धर दबोचा। बदमाशों के कब्जे से पुलिस ने दो अदद तमंचे के साथ ही चिकित्सक द्वारा दी गई 20 हजार नकदी भी बरामद कर लिया।
गौरतलब है कि मुबारकपुर थाना क्षेत्र के पुरुषोत्तमपुर गांव के समीप बीते 15 जनवरी को दिन में पति के साथ सोनोग्राफी जांच कराने कार से जा रही महिला रीना देवी को बाइक सवार दो बदमाशों ने गोली मार दी और मौके से फरार हो गए। घायल महिला का उपचार वाराणसी स्थित अस्पताल में चल रहा है। इस मामले में महिला के पति डा० राहुल का आरोप था कि जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के अजमतगढ़ बाजार में उसके द्वारा खरीदी गई भूमि पर चल रहे विवाद के चलते विपक्षियों ने उसे जान से मारने की कोशिश की। सफलता न मिलने पर उन्होंने कार में बैठी पत्नी को गोली मार दी। इस मामले में महिला के पति द्वारा अजमतगढ़ बाजार निवासी दो लोगों के खिलाफ हत्या प्रयास का नामजद मुकदमा दर्ज कराया गया। घटना की जांच मुबारकपुर थाना प्रभारी योगेंद्र बहादुर सिंह के साथ ही स्वाट टीम प्रभारी संजय सिंह को सौंपी गई। विवेचना के दौरान मिले तथ्यों के आधार पर पुलिस का शक घायल महिला के पति पर गहराया और उसकी निगरानी शुरू कर दी गई। बुधवार को दिन में महिला को गोली मारने वाले बदमाशों के बुलाने पर वाराणसी से उन्हें तयशुदा रकम का भुगतान करने आया चिकित्सक पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने चिकित्सक के साथ ही महिला को गोली मारने वाले दोनों बदमाशों को भी धर दबोचा। उनके कब्जे से दो अदद तमंचा व कारतूस के साथ ही चिकित्सक द्वारा दी गई 20 हजार नकदी भी बरामद कर ली गई। पुलिस के अनुसार मुबारकपुर क्षेत्र के पुरुषोत्तमपुर ग्राम निवासी चिकित्सक राहुल राम पुत्र श्यामलाल अजमतगढ़ बाजार में क्लीनिक का संचालन करता है। उसका जीयनपुर क्षेत्र की रहने वाली किसी महिला से प्रेम प्रपंच चल रहा है। साथ ही चिकित्सक राहुल राम अपनी पत्नी रीना देवी के सख्त व्यवहार से परेशान था। इसके लिए उसने अपने पत्नी की हत्या कराने के बाद प्रेमिका से शादी रचाने का मन बनाया और प्रेम की राह में रोड़ा बनी पत्नी को ठिकाने लगाने के लिए अजमतगढ़ बाजार निवासी दो पेशेवर अपराधियों को हत्या की सुपारी दे दी। योजना के अनुसार बीते 15 जनवरी को राहुल राम अपनी पत्नी को पथरी की बीमारी का पता लगाने के लिए सोनोग्राफी जांच कराने के बहाने घर से ले गया और रास्ते में कार खड़ी कर लघुशंका के बहाने वाहन से उतर गया। योजना के अनुसार पीछे से आए बाइक सवार दो बदमाश कार में बैठी रीना देवी को गोली मारकर फरार हो गए। इस तरह इस सनसनीखेज मामले का खुलासा पुलिस ने कर दिया। पकड़े गए आरोपियों में घायल महिला के पति राहुल राम के साथ ही जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के अजमतगढ़ कस्बे के महादेव नगर निवासी धर्मेंद्र कुमार पुत्र स्व० ललित नारायण राम व जुगनू राम पुत्र रूपचंद बताए गए हैं। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार धर्मेंद्र कुमार के खिलाफ जीयनपुर व मुबारकपुर थाने के अलावा मऊ जनपद में भी एक दर्जन से ज्यादा संगीन अभियोग पंजीकृत हैं।