बलिया। मैनेजर ‌सिंह जनता जूनियर हाईस्कूल मधुबनी के प्रबंधक बीजेंद्र बहादुर सिंह मंगलवार की सुबह करीब 10 बजे जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के आवास पर धरना देने पहुंचे। जिसका कवरेज करने एक संस्था का रिर्पोटर अन्य साथियों के साथ पहुंचा। जहां पीड़ित का बयान लेने के बाद वह वापस लौट रहा था कि सिटी मजजिस्ट्रेट के निर्देश पर पहुंची कोतवाली अंतर्गत सिविल चौकी इंचार्ज ने रिर्पोटर व धरना दे रहे व्यक्ति को पकड़ कोतवाली लाई। इसकी जानकारी जैसे ही मीडियाकर्मियों को हुई वैसे ही दर्जनों की संख्या में कोतवाली पहुंच गए। उधर, संस्थान के ब्यूूरो ने जिलाधिकारी व एसपी से फोन कर घटना से अवगत कराया। जिसके बाद डीएम व एसपी के निर्देेश पर रिर्पोटर को छोड़ दिया गया।
पीड़ित प्रबंधक का आरोप था कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एक साल से बार-बार जाने के बाद भी मिलते नहीं है और फोन नहीं उठाते है। जिससे मजबूर होकर अपनी बात को रखने के लिए मंगलवार को उनके आवास पर आया, लेकिन वे नहीं मिले। जिसके बाद मैं आवास पर धरना पर बैठ गया। इस दौरान कुछ पत्रकार कवरेज करने पहुंचे, उन्हें भी पकड़ लिया। उधर, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सिटी मजिस्ट्रेट व एसडीएम को फोन कर बताया कि मेरे आवास पर दो-चार लोग आए है और बाहर से कुुंडी बंद कर दिया। इसकी जानकारी होते ही दोनों अधिकारी द्वय मौके पर पहुंच गए और सिविल चौकी इंचार्ज को बुलाया। इसके बाद धरना दे रहे पीड़ित के साथ ही कवरेज करने गए एक रिर्पोटर को कोतवाली ले जाने का निर्देश दिया। जिसके बाद पुलिस रिर्पोटर को पकड़कर कोतवाली लाई और उसका मोबाइल छीन लिया। इसकी जानकारी जैसे ही मीडियाकर्मियों को हुई, वैसे ही कोतवाली पहुंच गए। जिसके बाद कोतवाल ने छोड़ दिया। इस बाबत जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि जैसे ही पत्रकार के पकड़ने की जानकारी हुई, वैसे ही मैंने पत्रकार के विरूद्घ कोई कार्रवाई न करने त‌था तत्काल छोड़ने का निर्देेश दिया। जबकि धरना दे रहे व्यक्ति के विरूद्घ कार्रवाई करने का निर्देश दिया।