मोहम्मद अकलेन
(फूलपुर) आजमगढ़ । समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक शयाम बहादुर यादव को फूलपुर-पवई से सपा का उम्मीदवार न बनाये जाने से कार्यकर्ता काफी मायूस है।शुक्रवार को उनके फूलपुर देहात आवास पर उनसे मिलने के लिए कार्यकर्ताओ का हुजूम उमड़ पड़ा। श्याम बहादुर यादव ने कहा कि पार्टी हाईकमान के आदेशों का पालन करना मेरा फ़र्ज़ बनता है। सपा के सिपाही के रूप में काम करूंगा। समाज की सेवा और सपा में रहकर कार्य करूँगा। एक तरफ जहां श्यामबहादुर यादव के खेमे में कार्यकर्ताओ में खामोशी है, वही रमाकांत यादव को सपा से टिकट मिल जाने से सपा के अन्य कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल है। बता दें कि आजमगढ़ में समाजवादी पार्टी द्वारा जनपद की 10 में से 7 सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित कर दिया गया। गुरुवार को हुई घोषणा के बाद तमाम दावेदारों के दावों पर विराम लग गया है।रमाकांत यादव पांचवी बार और सपा से दूसरी बार विधानसभा का चुनाव फूलपुर पवई से लड़ेंगे। रमाकांत यादव को सपा से प्रत्याशी घोषित होते ही फूलपुर तहसील के अंबारी बाजार स्थित उनके आवास  पर चहल पहल बढ़ गयी। काफी संख्या में क्षेत्रीय लोग उनके आवास पर पहुँचकर बधाई देने में लगे रहे। रमाकांत यादव के फूलपुर पवई से चुनाव लड़ने की सूचना पर उनके समर्थक एक दूसरे से चर्चा करते दिखे की अब क्या होगा। अभी फूलपुर पवई की सीट रमाकांत यादव के पुत्र अरुणकान्त यादव के पास है। अरुणकान्त यादव बीजेपी से विधायक है। दुबारा उन्हें ही टिकट मिलने की चर्चा क्षेत्र में चल रही है। बता दें कि फूलपुर पवई विधानसभा की लड़ाई दिलचस्प होती चली जा रही है। दो विरोधी दलों की रणनीति एक ही मैदान में होनी तय मानी जा रही है। पिता एवं पुत्र आमने सामने हो सकते है, सपा से घोषित प्रत्याशी पूर्व सांसद रमाकान्त यादव कहते है कि सपा मुखिया अखिलेश यादव ने हमारे ऊपर विश्वास करके फूलपुर पवई से टिकट दिया है। हमारी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि मैं फूलपुर पवई विधान सभा की सीट जीतकर उनके विश्वास पर खरा उतरू। पूर्व विधायक श्याम बहादुर यादव कहते है कि पार्टी हाईकमान का निर्णय मुझे मान्य है। पार्टी में ही रहकर देश समाज की सेवा करने का बीड़ा उठाया हूँ । डाक्टर लोहिया के बताए रास्ते पर चलने के लिये दृढ़ संकल्पित हूँ।