नरही (बलिया) शिक्षा क्षेत्र सोहांव अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय बघौना के प्रांगण में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 73 वीं पुण्यतिथि मनाई गई।पूर्व ग्राम प्रधान प्रतिनिधि सुनील राय ने गांव के गणमान्य लोगों के साथ गांधी जी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस अवसर पर सुनील राय ने गांधी जी के प्रति देश को आजादी कराने के कार्यों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने दांडी मार्च से लेकर नमक सत्याग्रह आंदोलन पर प्रकाश डाला। कहा कि गांधी जी ने नमक कानून के खिलाफ दांडी मार्च एक ऐसी क्रांतिकारी घटना थी जिसने न केवल ब्रिटिश हुकूमत की नीव हिला दी बल्कि आजादी के सपने को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। नमक सत्याग्रह के जरिए महात्मा गांधी ने न सिर्फ ब्रिटिश कानून को चुनौती दी बल्कि भारतीय जनमानस में यह विश्वास पैदा कर दिया कि आजादी की राह में सत्य का प्रयोग करते हुए वह हर उस काले कानून का विरोध कर सकते हैं जो उन्हें उनके अधिकार हासिल करने से रोकते हैं। इस मौके पर धनंजय उपाध्याय, सत्यम उपाध्याय, नंदकिशोर, प्रकाश तिवारी, सुकुल राय, मोहन राय आदि लोग उपस्थित रहे।