रिपोर्ट, शैलेश राय

(तहबरपुर) आजमगढ़ । जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने गुरुवार को तहबरपुर ब्लाक के खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय बीकापुर का औचक निरीक्षण किया । जिलाधिकारी औचक निरीक्षण में तमाम कमियां उजागर हुई । जिलाधिकारी के अकस्मात आगमन पर कई अधिकारी अनुपस्थित मिले, जिसमें सीडीपीओ मनोज सिंह वहीं जेआरएस स्वास्थ्य विभाग से डॉ चतुरी चौहान ने 15 प्लस प्रथम डोज 80% द्वितीय डोज एटीन प्लस 110% का सही आंकड़ा प्रस्तुत किया, वैक्सीनेशन के आंकड़े से जिलाधिकारी संतुष्ट दिखे, ब्लॉक के गेट के बाएं तरफ पान की गुमटी रखे राम बचन यादव ने खंड शिक्षा अधिकारी बृजेश कुमार श्रीवास्तव पर आरोप लगाया कि बीआरसी वाले बच्चों के मोजे जूते और चप्पल कमरे में बंद कर दिए हैं, और उन्हें वितरित नहीं किया गया है, जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी द्वारा दरवाजे की चाबी ना मिलने पर दरवाजा तोड़ वाकर देखा गया तो आरोप निराधार साबित हुआ, आरोप निराधार होने के बाद में रामबचन यादव को माफी मांगनी पड़ी, एक नादान पत्रकार द्वारा खंड शिक्षा अधिकारी के ऊपर गलत आरोप लगाया गया, कि विद्यालयों में बच्चों की पुस्तकें वितरित नहीं की गई है, खंड शिक्षा अधिकारी ने इसके साक्ष्य प्रस्तुत किए, जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी को निर्देशित किया एक पखवाड़े के अंदर ब्लॉक का सुंदरीकरण सुनिश्चित करते हुए पूरे परिसर की सफाई कराई जाए, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को अस्पष्ट निर्देशित किया कि गोवंश का विशेष ख्याल रखते हुए विकासखंड पर खाली जमीन का इस्तेमाल किया जाए, और छुट्टा पशुओं को वहां पर आश्रय दिया जाए, उप जिलाधिकारी को स्पष्ट निर्देशित करते हुए कहा कि आप क्षेत्रीय भ्रमण कर दिव्यांग मतदाताओं की सूची के साथ साथ 80 प्लस की रिपोर्ट जल्द से जल्द प्रेषित करें जो लोग घर से मतदान करना चाहते हैं उनके लिए सुविधा सुनिश्चित किया जाए, इसके अलावा कनेक्शन का जो दुरुपयोग कर रहे हैं, उनके खिलाफ शख्त से शख्त कार्रवाई की जाय । इस मौके पर परियोजना निदेशक कुमुद करुणाकर सिंह, जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी सुनील कुमार पुस्कर, एसडीएम निजामाबाद राजीव रतन सिंह, खाद्य आपूर्ति अधिकारी निजामाबाद मनोज सिंह सरल, थानाध्यक्ष तहबरपुर मय हमराहियों के साथ उपस्थित रहे, खंड विकास अधिकारी पुष्पा सोनकर अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के साथ मौके पर डटी रहीं ।