(बलिया) बलिया जनपद के सबसे बडे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रसड़ा में गत लगभग चार माह से बाल रोग विशेषज्ञ का पद रिक्त पड़ा है जिससे नवजात बच्चों का इलाज यहां संभव नहीं हो पा रहा है जिसके चलते परिजन अपने बच्चों के इलाज के लिए दर- दर भटकने को विवश दिखाई पड़ रहे हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी को सब कुछ संज्ञान में होने के बावजूद रसड़ा सीएचसी पर चार माह बाद भी बाल रोग विशेषेज्ञ की तैनाती नहीं करने से लोगों में भारी आक्रोश देखने को मिल रहा है और यह आक्रोश कभी भी हंगामा अथवा आंदोलन का रूख अख्तियार कर सकता है। इस सीएचसी पर चार माह पूर्व बाल रोग विशेषज्ञ में डा. पीसी भारती तैनात थे किंतु उनका स्थानांतरण गैर स्थान कर दिये जाने के बाद यहां शिशुओ का उपचार नहीं होने से लोग अपने पाल्यों का इलाज कराने मऊ अथवा वाराणसी जाने को विवश दिखाई पड़ रहे हैं। इस संबंध में क्षेत्रीय प्रबुद्ध जनों ने कई बार मुख्य चिकित्साधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराया किंतु आज तक इस दिशा में कोई प्रगति नहीं हो पाना विभागीय लापरवाही को उजागर कर रही है। यदि विभाग रसड़ा जैसे अति महत्वपूर्ण सीएचसी पर शीघ्र बाल रोग विशेषज्ञ की तैनाती नहीं करता है जहां नवजात बच्चों का इलाज प्रभावित होगा वहीं यह आक्रोश आंदोलन का रूप अख्तियार कर ले तो इससे इंकार भी नहीं किया जा सकता।