53 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का किया प्रयोग

पिन्टू सिंह

(बलिया )उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के रसडा विधान सभा 358 क्षेत्र में चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न हो गया। चुनाव के दौरान महिलाओं ने बढ चढकर हिस्सा लिया।
चुनाव के दौरान अल्पसंख्यक वर्ग की महिलाओ ने जमकर मतदान किया। वहीं युवा एवं दिव्यांग मतदाताओं ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया
और कहा कि मेरा मत देश को मजबूत करने के लिए है।
कही से किसी अप्रिय घटना की सूचना शाम तक नहीं है।
विधानसभा चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गया।सभी मतदान केंद्रों पर पैरामिलिट्री फोर्स तैनात रही। चुनाव के दौरान मतदान में लगे अफसर व सुरक्षा कर्मी भागदौड़ करते रहे। अमर शहीद भगत सिंह इंटरकालेज मे कुछ देर इवीएम खराब रहा हालांकि थोडी देर बाद ठीक कर दिया गया वहीं रसडा प्रभारी निरीक्षक सहित क्षेत्राधिकारी भी समय समय पर क्षेत्र में भ्रमण करके सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते दिखाई पडे साथ ही क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील करते रहे।
सुबह से मतदान केंद्रों पर हल्की फुल्की भीड़ देखने को मिली जैसे ही मतदान का समय बढ़ता गया, भीडतंत्र भी बढ़ती रही।
युवा मतदाताओं के चेहरों पर मतदान को लेकर खुशहाली देखने को मिली युवा मतदाताओं ने बताया कि हम पहली बार अपने मत का प्रयोग करने आए हैं। मत का प्रयोग करने के बाद हमें बहुत ही खुशी मिली दिव्यांग मतदाता भी अपने परिजनों संग पोलिंग बूथों पर पहुंच कर मतदान में हिस्सा लिया।
इसी क्रम मे मंडलायुक्त विजय विश्वास पंत व डीआईजी अखिलेश कुमार ने क्षेत्र के विभिन्न मतदान केन्द्रों का निरिक्षण किया ।
अधिकाशतः मतदान केंद्रों पर जहा विकास का मुद्दा नजर आया वहीं दूसरी तरफ महगाई बेरोजगारी जैसे महत्वपूर्ण मुद्दा दिखा।
हालांकि 358 विधानसभा में कहने को तो 10 प्रत्याशी ने नामांकन दाखिल किया था मगर इस चुनाव में बसपा से उमाशंकर सिंह तथा सुभासपा के महेंद्र चौहान के बीच मुख्य मुकाबला रहा इस बार के चुनाव को लेकर काफी कार्यकर्ता मे गहमागहमी रही।
इसी बीच दोपहर में बसपा विधायक उमाशंकर सिंह अपने परिजनों के साथ पैतृक गांव खनवर स्थित प्राथमिक विद्यालय पर पहुंचकर मतदान किया उनके साथ पिता घुरहू सिंह धर्मपत्नी पुष्पा सिंह व छोटा अनुज रमेश सिंह सहित बेटा प्रिंस सिंह ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।
हालांकि बातचीत उन्होंने कहा कि जाति पाती से ऊपर उठकर राजनीति की जनता के लिए लडता रहूंगा।