मनियर बलिया ।यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्र की सकुशल वापसी की सूचना देने पहुंचे तहसीलदार बांसडीह प्रवीण सिंह व लेखपाल ईश्वर दयाल यादव को देखकर छात्र के माता-पिता ने राहत की सांस ली। छात्र के माता-पिता उसी तरह से खुश थे जिस प्रकार से 14 वर्ष बाद प्रभु श्री राम के श्री लंका पर विजय प्राप्त करने के बाद अयोध्या में वापस लौटने की सूचना पाकर भरत को हुई थी। बताते चलें कि मनियर थाना क्षेत्र के रामपुर दक्षिण निवासी हाल मुकाम बस स्टैंड मनियर चंद्रभान गुप्ता के पुत्र रवि प्रसाद गुप्ता यूक्रेन की खारगीव में एमबीबीएस की शिक्षा ग्रहण करने के लिए गया था । वहां वह विगत 4 वर्षों से शिक्षा ग्रहण कर रहा था।वहां यूक्रेन एवं रूस के बीच छिड़ी जंग में पुत्र के फंसे होने का समाचार सुनकर माता-पिता सहित पूरा परिवार चिंतित थे। उनके आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहा था। इसी बीच तहसीलदार बांसडीह प्रवीण सिंह रवि प्रसाद गुप्ता के मनियर बस स्टैंड आवास पर पहुंचे तथा उसके पिता चंद्रभान गुप्ता व माता मंजू गुप्ता को सूचना दिए कि आपका पुत्र शुक्रवार के दिन दिल्ली में लैंडिंग कर चुका है। इसी बीच परिवार को सूचना मिली कि दिल्ली में रवि के रिश्तेदार भी उससे जाकर मिल चुके हैं तथा रवि भी फोन पर अपने माता-पिता को सकुशल वापसी की सूचना दिया ।तहसीलदार को देखकर छात्र के माता-पिता के आंखों से खुशी के आंसू छलक पड़े तथा माता पिता ने मोदी सरकार की खूब सराहना की कि इनके प्रयास से मेरा बेटा सकुशल वापस लौट आया। चंद्रभान गुप्ता ने कहा कि मैं मोदी सरकार का आजीवन ऋणी रहूंगा ।तहसीलदार प्रवीण सिंह ने भी छात्र रवि प्रसाद गुप्ता के माता-पिता को सहयोग करने का भरोसा दिया।