रिपोर्ट, वरूण सिंह
यूपी के प्रयागराज में सहायक शिक्षक अजीत यादव को
सरकारी कर्मचारी होने के बाद भी चुनावी जनसभा में सपा का प्रचार करने के साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और सीएम योगी आदित्यनाथ के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते का आरोप है, उन्हें 5 मार्च 2022 को नोटिस जारी करते हुए जवाब मांगा गया था, जवाब न मिलने के चलते 11 मार्च को सस्पेंड कर दिया गया है, अजीत यादव प्रयागराज के बहरिया क्षेत्र में आने वाले कम्पोजिट विद्यालय, सराय ख्वाजा में टीचर थे, जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रदीप कुमार तिवारी ने उनके आचरण को अध्यापक आचरण सेवा नियमावली के खिलाफ पाया है, उनके विरुद्ध जाँच शुरू कर दी गई है, यह जाँच खंड विकास अधिकारी कर रहे हैं, बता दें कि लगभग हफ्तेभर पहले अजीत यादव का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, तब वो सपा के प्रत्याशी संदीप यादव के समर्थन में जनसभा कर रहे थे, उस वीडियो में वो नरेंद्र मोदी, योगी आदित्यनाथ और अमित शाह की तुलना सांड से करते नज़र आ रहे थे, उक्त वीडियो में उन्होंने कहा था, ‘कोई काला सांड अमित शाह के रूप में घूम रहा है, कोई भूरा सांड है जो नरेंद्र मोदी के रूप में घूम रहा है, जब समाजवादी पार्टी की सरकार आएगी तो आप देख लेना योगी बाबा, जो आप भगवा पहन कर लुंगी के नीचे लाल लंगोट पहनते है, ‘उसकी भी जांच की जाएगी,’ यह वीडियो वायरल होने के बाद अजीत यादव के खिलाफ निरंतर कार्रवाई की मांग हो रही थी ।