रिपोर्ट, वरूण सिंह
आजमगढ़ । दीदारगंज थाना क्षेत्र के गुवाई गांव में रविवार की रात में महिला और उसकी नातिन की हत्या के आरोपी से पुलिस की मुठभेड़ हो गई, इस दौरान पुलिस की गोली से आरोपी घायल हो गया और पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, पुलिस ने घायल आरोपी के पास से लूटी गई धनराशि के साथ ही हत्या में प्रयुक्त असलहा बरामद किया है । बता दें कि गुवाई गांव में 13 मार्च को लीलावती उम्र करीब 50 वर्ष व नतिनी आंचल उम्र करीब 13 वर्ष की अज्ञात व्यक्ति द्वारा हत्या कर दी गई थी, तभी से डबल मर्डर की हत्या कि आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही थी, इसी दौरान पुलिस को सूचना मिली की गुवाई में हुए डबल मर्डर से सम्बन्धित एक व्यक्ति अरनौला के पास कहीं जाने के लिए साधन की तलाश में खड़ा है। इस सूचना पर पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए अरनौला के पास से एक व्यक्ति को हिरासत में लिया। पूछने पर व्यक्ति द्वारा अपना नाम चन्द्रजीत चौहान पुत्र लालधारी चौहान ग्राम गुवाई थाना दीदारगंज जनपद आजमगढ़ बताया। उसकी जामा तलाशी लेने पर उसके जेब से 74 हजार रूपया व एक अदद मोबाइल इनफिनिक्स कम्पनी की बरामद हुआ। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने हत्या करने के बाद को स्वीकार किया और रुपया वह असलह अपने खेत में
से बरामद कराया आरोपी ने बताया कि गांव में यह चर्चा थी कि मृतका लीलावती जमीन लिखाने के प्रयास में थी, और उसके लिये पैसा इक्कठा करके घऱ में लाकर रखी है। इसके बाद आरोपी 12 मार्च की रात में करीब 8.30 बजे मृतका के घर पहुंचा और खुले चैनल से अंदर पहुंचा और बरामदे में रखे तख्ते के नीचे छुप गया। रात में मृतका व उसकी नातिनी चैनल में ताला बन्द करके सो गयी। मैं वही छिपा रहा। रात में मृतका लीलावती बाथरूम करने उठी तब मैने उसके सिर पर लोहे के पाइप से वार कर दिया जिससे वह गिर पड़ी और गिरते पड़ते कमरे के अन्दर जाकर पहन्सुल उठा ली। इसी बीच उसकी नतिनी भी आ गयी, जिसपर मेरे द्वारा वार किया गया। मेरे द्वारा पुनः लीलावती पर वार किया गया, जिससे पहन्सूल छूट गया। मेरे द्वारा पहन्सूल उठाकर उसकी नतिनी का हत्या कर दी गयी। मेरे द्वारा पुनः लीलावती पर वार किया गया जिससे वह मर गयी। मेरे द्वारा जल्दी जल्दी बक्से की चाबी की खोज की गयी तथा विस्तर पर तकिये के नीचे रखी चाबी को लेकर कमरे में रखे बक्से का ताला खोला गया जिसमें पैसे व जेवर मुझे मिले थे। बताया कि पैसे व जेवर एक झोले में रख कर मैं छत पर पहुचकर छत से लगे अमरूद्व के पेड़ के सहारे उतरकर वहा से भाग गया।
अभियुक्त के पास से बरामद सामानों की सूची
1 नौ लाख चौसठ हजार चार सौ रूपये नगद 
2 जेवरात (मोती के माला में सोने का लाकेट पिरोया हुआ, एक चैन सोने की, दो कान झुमका सोने का, 02 अदद नाक की नथिया, कान का टप्स सोने का, नाक की कील सोने की)
3 पहन्सूल आला कत्ल 
4 लोहे की पाइप आला कत्ल 
5 घटना के दिन पहने हुए रक्त रंजित कपड़े जिन्स, बनियान, शर्ट व जूता 
6 अभियुक्त के पास से एक अदद मोबाइल इनफिनिक्स कम्पनी 
7 एक अदद तमंचा .315 बोर,चार अदद खोखा कारतूस .315 बोर व दो अदद जिन्दा कारतूस .315 बोर
बता दें कि जनपद में घटी इस प्रकार की जघन्य हत्याकाण्ड से जनमानस में काफी आक्रोश था जिसका पुलिस टीम द्वारा 35 घंटे में सफल अनावरण करते हुए अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया।
घटना के अनावरण हेतु एडीजी जोन वाराणसी द्वारा 50,000 रुपये व डीआईजी परिक्षेत्र आजमगढ़ द्वारा 50,000 रुपये तथा पुलिस अधीक्षक आजमगढ़ द्वारा 25,000 रुपये से घटना का अनावरण करने वाली पुलिस टीम को पुरस्कृत किया गया।