– जरूरतमंदों में दो लाख एक हजार रुपये का चेक किया वितरित
आजमगढ़। आमतौर पर नेता चुनाव में हार तो दूर जीत के बाद भी क्षेत्र से गायब हो जाते हैं और फिर वे अगले ही चुनाव में नजर आते है लेकिन लोकसभा उपचुनाव में हार के बाद भी बसपा के पूर्व विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली न केवल क्षेत्र में डटे हैं बल्कि पूर्व की भांति अपनी जिम्मेदारियों का पूरी शिद्दत से निर्वहन कर रहे है। जमाली ने एक बार फिर गरीबों की मदद के हाथ बढ़ाया है। बिना किसी पद पर होने के बाद भी जमाली ने सोमवार को जरूरतमंदों में दो लाख एक हजार रुपये चेक के माध्यम से वितरित किया। मुबारकपुर विधानसभा क्षेत्र के बसपा पुर्व विधायक व सदर लोकसभा चुनाव लड़ चुके शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ने सदर लोकसभा क्षेत्र दर्जनों गांव का भ्रमण किया इस दौरान लोगों का हाल जाना और समाज के गरीब असहायों का दर्द बांटते हुए इनके ईलाज और बेटियों के शादी के लिए दिल खोलकर अपने निजी श्रोत से चेक द्वारा आर्थिक मदद दिया.पुर्व विधायक श्री जमाली ने कहाकि समाज के का सेवा सबसे बड़ा धर्म है। क्षेत्र में गंभीर रोगों से ग्रसित लोगों के ईलाज और बेटियों की शादी के लिए क्षेत्र के लोगों को आर्थिक सहायता पिछले कई वर्षों से दी जा रही है। उन्होने कहाकि मैं चुनाव हारूं या जीतूं यह मायने नही रखता मेरे लिए यह मायने रखता है कि मैं अपने जिला के जरूरत मंदों के काम आ सकूं और ईश्वर से दुवा करूंगा की मैं अपनी आखिरी सांस तक लोगों की सेवा करता रहूं मेरे राजनीति में आने का मंकसद ही समाज के गरीब, कमजोर, असहायों की सेवा करना है। गरीब असहायों की सेवा के लिए दरवाजे हमेशा खुले रहेंगे। पुर्व विधायक द्वारा अपने निजी श्रोत से चेक द्वारा 2लाख एक हजार रूपये की आर्थिक मदद दी गई। जिसमें 15 दृ 15 हजार की मदद अख्तरी मुबारकपुर व 10 दृ 10 हजार की मदद राजेश धनहुव्वॉ,भोला कुरैशी करमैनी,गणेश राजभर पियरोपुर, शम्सा बंजारा करमैनी, रशीद अहमद पलिया,रूबीना बिंद्रा बाज़ार, सीमा मुबारकपुर, व 7-7हज़ार की मदद संगिनी गुजरपार, अबुल हसन गजहडा,जफर आलम फखरुद्दीनपुर, वकील अहमद शाहगढ़, मुन्ना सितारा बानो बिसहम, शमशाद अहमद लौदा मेहनगर, जहीरुन फखरुद्दीनपुर, असलम महाराजगंज, वा 5-5 हज़ार की मदद अवधू सरोज पदमिनियां, प्रभा देवी जमालपुर, रुकसाना गजाहड़ा, विद्यासागर बड़हलगंज, रूबीना करमैनी, आमिर अहमद बाजबहादुर, परवेज़ शाहगढ़, मधुबनी देवी भुजही, कमला देवी गुलामीपुरा, नुसरत खातून जालंधरी, मुमताज अहमद पतीला गौसपुर, शाहनवाज मुबारकपुर, को दिया गया।