अतरौलिया, आजमगढ़। बता दें कि श्रावण मास के आज पहले सोमवार को प्रसिद्ध कैलेश्वर धाम मंदिर में रुद्राभिषेक व जलाभिषेक किया गया। सावन का पहला सोमवार आज हिंदू धर्म में सावन मास के साथ ही इसके सोमवार का भी विशेष महत्व होता है। इस महीने में भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा की जाती है। सावन शुरू होते ही मंदिर व शिवालयों में हर-हर महादेव का उद्घोष उठने लगा। कैलेश्वर धाम मंदिर पर आज सुबह सोमवार से भक्तों की भारी भीड़ लगी जहां सुबह 4 बजे से ही भक्त मंदिर परिसर पर पहुंचकर भगवान शिव पार्वती को जलाभिषेक किया वही मंदिर परिसर में साफ सफाई का पूरा ध्यान रखा गया ।सावन के पहले दिन सोमवार को भक्तों ने भारी संख्या में पहुंचकर रुद्राभिषेक व जलाभिषेक किया गया। मान्यताओं के अनुसार क्षेत्र का प्रसिद्ध कैलेश्वर धाम मंदिर द्वापर युग का स्वयंभू शिवलिंग मंदिर है इसी आस्था के साथ भारी संख्या में श्रद्धालु यहां सोमवार को कावड़ लेकर जलाभिषेक चढ़ाने आते हैं मान्यता यह भी है कि यहां आने वाले सभी श्रद्धालुओं की मुरादे पूरी होती है। मंदिर के चारों तरफ खुला वातावरण तथा मंदिर में साफ सफाई के साथ ही विशाल वटवृक्ष भी स्थित है। यहां स्वयंभू शिवलिंग पर सुबह से ही श्रद्धालु पहुंचकर भगवान शिव को जलाभिषेक करते हैं। इसी क्रम में क्षेत्र के अन्य शिव मंदिरों में भी श्रावण के प्रथम सोमवार को सुबह से ही महिलाओं, लड़कियों की भारी भीड़ लगी रही, तथा पूरे दिन कांवरियों का जत्था मंदिर परिसर पहुंचता रहा।