बेतिया। भारतीय खेत ग्रामीण मजदूर सभा और भाकपा माले ने मनरेगा में मजदूरों के बकाया भुगतान को लेकर बैरिया के मनरेगा कार्यालय पर प्रदर्शन कर बकाया भुगतान का मांग किया। इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए माले नेता सुरेन्द्र चौधरी ने कहा कि नीतीश मोदी राज मजदूरों ने लिए भुखे मारने के राज में तब्दील हो गया है। सरकार ने मनरेगा से बगही रतनपुर पंचायत में वर्ष 2019 में पेंड लगा मजदूरों को बहाल किया। लेकिन तीन साल में अब तक मात्र छह से सात माह का भुगतान हुआ है। लोग भुखे मरने के लिए मजबूर हैं। सरकार मजदूरों के मजदूरों का भुगतान अविलंब करें वर्ना अखिल भारतीय खेत ग्रामीण मजदूर सभा और भाकपा माले आंदोलन के लिए बाध्य होगा। माले नेता जोखू चौधरी ने कहा कि मनरेगा कार्यालय में मजदूरी के भुगतान के लिए लोग दौड़ लगा रहे हैं। अंचल प्रशासन सुनने के लिए तैयार नहीं है। मोजम्मिल हुसैन ने कहा कि मनरेगा पीओ कार्यालय से गायब रहते हैं। मजदूर अपनी समस्या को लेकर आते हैं तो यहां कोई सुनने के लिए मिलता नहीं है। मौके पर भिखारी बैठा, शिवधारी राम, तपस्वी राम, ध्रुव राम, मोहन राम, मतिलाल राम, मोती महतो, शंकर महतो आदि उपस्थित थे।
संवाददाता-राजेन्द्र कुमार बेतिया