रिपोर्ट बृजेश सिंह अम्बेडकरनगर।
जरायम की दुनिया का बेताज बादशाह रहे शनि सिंह ने जहांगीरगंज थाने में सोमवार सुबह 10:00 बजे सरेंडर कर दिया । हाथ ऊपर कर थाने पहुंचे शनि सिंह के ऊपर हत्या, लूट, रंगदारी, डकैती समेत 9 आपराधिक मुकदमें दर्ज हैं। अरविंद सिंह टाटा हत्याकांड में शनि सिंह का नाम आया था ।
वांछित अभियुक्त शनि सिंह उर्फ शिवप्रकाश पुत्र केशव प्रसाद द्वारा पुलिस की कार्यवाही के डर से थाना जहांगीरगंज में आत्मसमर्पण करने के संबंध में अपर पुलिस अधीक्षक संजय राय ने बताया कि सनी सिंह 103/ 12 के मामले में 302 के तहत फरार अभियुक्त था इनके ऊपर 9 मुकदमे दर्ज हैं।
गौरतलब है कि करीब 8 साल पहले अरविंद सिंह टाटा की हत्या हुई थी इसके बाद से ही पुलिस को शनी सिंह की तलाश थी। जहांगीरगंज थाने पहुंचकर शनी सिंह ने अपने आप को निर्दोष बताया और कहा कि उसे साजिश के तहत फंसाया गया है यह पूछे जाने पर कि उसने थाने में सरेंडर क्यों किया तो उसने कहा कि मुझे देश की न्यायपालिका पर भरोसा है और मुझे साजिश के तहत फंसाया गया है। न्यायालय निश्चित रूप से मुझे न्याय देगा न्यायपालिका का सम्मान करते हुए मैंने अपने आप को सरेंडर कर दिया है। बताते चलें कि सोमवार की सुबह शनी सिंह ने जब जहांगीरगंज थाने में सरेंडर किया उस वक्त स्थानीय मीडिया कर्मी मौजूद रहे और उन्होंने पूरी कार्रवाई को अपने कैमरे में कैद किया । जानकारी के मुताबिक शनी सिंह ने स्थानीय मीडिया से संपर्क कर अपने सरेडर की जानकारी पहले ही दे दी थी।

अपर पुलिस अधीक्षक संजय राय का बयान