केराकत, जौनपुर। केराकत कोतवाली क्षेत्र के थाना
चंदवक, क्षेत्र के पड़रछा गांव में मंगलवार भोर में घर के बरामदे में रोशनदान से रस्सी के सहारे फांसी पर प्रेमी जहां लटकता मिला वहीं उसके पास ही चौकी पर प्रेमिका मृत पड़ी थीं।मृत महिला की मां ने अल सुबह यह दृश्य देखा तो उसके होश उड़ गए।शोर मचाई तो आस पास के लोग जुट गए।सूचना पुलिस को दी गईं।पुलिस शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजकर आवश्यक कार्रवाई कर रही है।
पड़रछा गांव निवासी फूलचंद्र विश्वकर्मा की पुत्री ज्योति की शादी दस साल पहले राकेश विश्वकर्मा निवासी बेलाव थाना बदलापुर के साथ हुई थीं।दोनों को एक बेटी आठ साल की साक्षी है।शादी के चार साल बाद दोनों के संबंध खराब हो गए।करीब एक साल पहले ज्योति का संबंध मोबाइल के जरिए राजस्थान के अलवर जिले के प्रतापगढ़ थानाक्षेत्र के निताता गांव निवासी विकास कुमार मीणा (26) से हो गया।इसकी भनक जब उसके पति को लगा तो विरोध करने लगा।मोबाइल से बात करने पर मारने पीटने लगा लेकिन वह नहीं मानी।करीब छः माह पहले वह घर से प्रेमी से मिलने अलवर चली गईं।इधर महिला की छोटी बहन प्रतीक्षा ने बदलापुर थाने में ज्योति को हत्या कर गायब कर देने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई।पुलिस ज्योति को अलवर से बरामद कर उसके पिता फूलचंद्र को सुपुर्द कर दिया । तब से वह मायके में ही रह रहीं थी।जीविकोपार्जन के लिए एक माह से पतरही में एक दुकान पर नौकरी भी कर रही थीं। दो तीन माह से पति से भी उसके संबंध अच्छे हो गए थे। उसका पति विगत शुक्रवार को उससे मिलने आया था और एक दिन रहकर शनिवार को गया।सोमवार को उसका प्रेमी भी अलवर से आ धमका।पतरही में उस दुकान पर भी गया जहां वह काम करती थीं। रात में प्रेमिका के घर प्रेमी कब आया किसी को पता नहीं। मायके में केवल उसकी मां व छोटी बहन ही रहती है।पिता वाराणसी रहते हैं। मंगलवार भोर में उसकी मां देवी जगी तो देखा की युवक रस्सी के सहारे रोशनदान से फांसी पर लटका है वहीं ज्योति बगल में चौकी पर मृत पड़ी है।यह दृश्य देख उसके होश उड़ गए।शोर मचाई तो आस पास के लोग इकट्ठा हो गए।सूचना पुलिस को दी गईं। सूचना पर थानाध्यक्ष रमेश कुमार,चौकी इंचार्ज राम बहादुर यादव मौके पर तत्काल पहुंच गए।सीओ गौरव शर्मा ने भी घटना स्थल का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिया ।प्रेमी युवक की पहचान आधारकार्ड के आधार पर हुईं।

जौनपुर से सुरेन्द्र विश्वकर्मा