रिपोर्ट, राजेश सिंह 

(अतरौलिया) आजमगढ। नगर पंचायत अतरौलिया में नया सवेरा के अंतर्गत विकास कार्यों में लाखों का भुगतान फर्जी तरीके से कराया गया है, जिसकी जांच आयुक्त आजमगढ़ द्वारा टीम गठित कर कराई जा रही है। वही आरोप यह भी लगाया गया है, कि नगर पंचायत के बाहर भी विकास कार्यों में करोड़ों का घपला किया गया है, जो नगर पंचायत से बाहर है। इसी तरह का एक ताजा मामला सामने आया है, जो दुर्गा मंदिर से बरनवाल चौक तक इंटरलॉकिंग सड़क के माध्यम से लाखों का भुगतान कराया गया है, जबकि उस मार्ग पर आर सी सी सड़क है, और इंटरलॉकिंग का कार्य हुआ ही नहीं है। इस संदर्भ में भाजपा नेता रामाकांत मिश्रा ने बताया कि नगर पंचायत के लगभग 70 कार्यों की जांच शुरू हो गई है। दुर्गा मंदिर से लेकर बर्नवाल चौक तक इंटरलॉकिंग दिखाई गई है, इतना ही नही 38 लाख रुपए फर्जी तरीके से भुगतान कराए गए है। यह सड़क 15 वर्ष पहले आरसीसी बनी थी, और आज भी आरसीसी सड़क ही है, कहीं भी एक ईंट नहीं लगी है। कहा की अतरौलिया नगर पंचायत में काफी घपला घोटाला भ्रष्टाचार है। लेकिन उन्हें शायद यह गलतफहमी है की उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चलाने के लिए यशस्वी मुख्यमंत्री माननीय योगी जी लगातार प्रयत्नशील है। पूरी घटना से अवगत कराने के लिए मेरे द्वारा आज ही माननीय केशव प्रसाद मौर्य व ग्राम विकास आयुक्त को पत्र भेज दिया है।