आजमगढ़। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अतुल कुमार सिंह ने कहा कि बाल संरक्षण के मुद्दे पर स्वयंसेवी संस्थाएं आगे आए। प्रभावित बच्चों की पहचान करने में विद्यालय प्रबन्ध समिति की सहायता करें। बच्चों की शिक्षा की जिम्मेदारी सरकार के साथ-साथ सिविल सोसायटी की भी है। श्री सिंह जनपद में शिक्षा के मुद्दे पर कार्य कर रही स्वयंसेवी संस्थाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि विगत दिनों बाल संरक्षण के मुद्दे को विद्यालय प्रबन्ध समिति के कार्य और अधिकार में शामिल करने का आदेश जनपद के समस्त विद्यालयों को निर्देशित किया गया है। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए साथी संस्थान उत्तर प्रदेश के शशि भूषण ने कहा कि बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा जारी किए गए आदेश बाल श्रम को रोकने में प्रभावी होंगे। जनपद में कार्य कर रहीं संस्थाओं की जिम्मेदारी है कि वह अपने कार्य क्षेत्र के विद्यालयों में एसएमसी का सहयोग करें। ’रोजा संस्थान’ द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में सुधीर अस्थाना ने बाल श्रम को रोकने के लिए संस्थान द्वारा किए जा रहे कार्यों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम को राजदेव चतुर्वेदी ने और मुस्ताक अहमद ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर अमरनाथ शर्मा, राम कृष्ण यादव, हरिकेश विश्वकर्मा, राजकुमार आदि प्रमुख लोग उपस्थित थे।