अतरौलिया,आजमगढ़। अतरौलिया नगर पंचायत का सफाई कर्मचारी सगीर अहमद पुत्र नूर मोहम्मद 56 वर्ष की मदियापार मोड़ के समीप एक बेसमेंट में निर्वस्त्र व अचेत अवस्था में पड़ा हुआ मिला । दोपहर को जब दुकानदार अपनी दुकान खोलने आया तो वहाँ निर्वस्त्र अचेत अवस्था में पड़े व्यक्ति को देखकर उसके होश उड़ गए। आनन-फानन में उसने 112 नंबर डायल करके अचेत व्यक्ति की सूचना दी। सूचना मिलते ही 112 नंबर पुलिस तथा 108 नंबर एंबुलेंस अचेतावस्था व्यक्ति को अतरौलिया स्थित 100 शैया हॉस्पिटल ले आए, जहां डाक्टरों ने उसे आजमगढ़ रिफर कर दिया। आजमगढ़ जाते समय एंबुलेंस चालक को लगा व्यक्ति के शरीर में कोई हरकत नहीं हो रही है तो एंबुलेंस चालक ने उसे अतरौलिया स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
घरवालों का आरोप है कि सगीर अहमद एक निजी बैंक से कुछ पैसा लोन लिया था जिसे पैसा जमा करने का बराबर दबाव बनाया जा रहा था ,पैसे की व्यवस्था ना होते देख सगीर अहमद सोमवार को बैंक भी गए थे तब से वह लापता है। मंगलवार की दोपहर 12 बजे इनके मृत्यु की सूचना पाकर घर में कोहराम मच गया वही घरवालों का आरोप है कि पुलिस बारीकी से मामले की जांच करेगी तो सच्चाई सामने आएगी वहीं कुछ लोग दुर्घटना तो कुछ लोग जहरखुरानी की भी आशंका जाहिर कर रहे हैं, ऐसे में पुलिस के लिए बड़ी चुनौती यह साबित होगी कि अगर जहर खुरानी का मामला होगा तो उसके शरीर का कपड़ा क्या हुआ। हकीकत जो भी हो पुलिस जांच में जुटी है शव को कब्जे में लेकर पुलिस पोस्टमार्टम हेतु जिला अस्पताल भेज दिया ।

अब केकरे भरोसे घर का खर्चा चली- अनवरी खातून
मृतक की पत्नी अनवरी खातून का रो-रोकर के बुरा हाल है ।मृतक सगीर की 6 पुत्री तथा 2 पुत्र हैं जिनमें चार लड़कियों व एक लड़के की शादी भी हो चुकी है शेष दो पुत्रियां और एक पुत्र की शादी बाकी है।
सगीर अपने घर का एकलौता कमाऊ सदस्य था जिसके बदौलत पूरे घर का खर्चा व बच्चों का पठन-पाठन होता था ।सगीर अतरौलिया नगर पंचायत में सफाई कर्मचारी के पद पर कार्यरत था वहीं मौत की सूचना पर पूरे घर में मातम पसरा हुआ है, तथा लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे।