अतरौलिया, आजमगढ़। 20 जुलाई को हाथीपुर गांव निवासी राम पलट तिवारी के साथ गांव के ही दूसरे समुदाय के कुछ लोगों द्वारा मारपीट व अप्राकृतिक दुष्कर्म का आरोप लगाया गया था। जिसके संबंध में अतरौलिया थाने में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया था, लेकिन परिजनों का आरोप है कि पुलिस द्वारा पीड़ित का दुष्कर्म का मेडिकल नहीं कराया गया। दूसरे समुदाय के लोगों को केवल धारा 151 के अंतर्गत पाबंद कर दिया गया जिससे छुब्ध होकर करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष वीर प्रताप सिंह वीरू, भाजपा युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष नीरज तिवारी, ब्लाक प्रमुख कोयलसा प्रतिनिधि संतोष यादव आज बुधवार दर्जनों की संख्या में थाने पर पहुंचकर थाना प्रभारी से पीड़ित के मेडिकल व धारा 151 के बारे में वार्तालाप किए। थाना प्रभारी के वार्तालाप से असंतुष्ट होकर भाजपा पदाधिकारियों के साथ वीर प्रताप सिंह वीरू धरने पर बैठ गए और पीड़ित को न्याय दिलाने की मांग करने लगे। नीरज तिवारी ने बताया कि पीड़ित का 377 का मेडिकल कराया जाए और दोषियों के ऊपर धारा बढ़ाते हुए सख्त कार्रवाई की जाए, वही वीर प्रताप सिंह वीरू ने कहा कि न्याय के लिए हम लोग मुख्यमंत्री तक जाएंगे। पीड़ित को न्याय दिलाना ही हमारी प्राथमिकता है उत्तर प्रदेश सरकार में अगर न्याय नहीं मिलेगा तो लोग कहां जाएंगे। हम लोग अपने हक और अधिकार के लिए आज यहां आए हैं। इस मामले में दोषी खुलेआम घूम रहे हैं उन्हें तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए, अन्यथा हम लोग चुप बैठने वाले नहीं इससे भी बड़े आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।