फरिहा आजमगढ। शासन स्तर से कार्यालय के साथ-साथ घर के आसपास पास पड़ोस में साफ सफाई के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का लगातार फरमान जारी होता रहता है लेकिन निजामाबाद तहसील की हालत कुछ ऐसी हो गई है कि उसे हम बयां नहीं कर सकते। साफ सफाई के नाम पर तो तहसील में आप स्वयं आकर देख सकते हैं। एक पड़ताल हीं आज तहसील की साफ सफाई की पोल खोल दी। जगह-जगह जल जमाव के साथ-साथ तहसील में बने सिड़ियों के नीचे इतनी ज्यादा गंदगी है कि देखते बनेगा। सीढ़ियों पर चढ़ते समय जगह-जगह पान खाकर थूकना और तहसील सिड़ियों के नीचे कैंपस में जगह-जगह गंदगी करना फरियादियों के साथ-साथ आम जनता भी सफाई के नाम पर केवल खानापूर्ति ही पूरा कर रही है। तहसील में बने सुलभ शौचालय और कैंपस के अंदर बने शौचालयों की हालत तो दयनीय होती जा रही है। साफ सफाई के नाम पर तहसील के अधिकारी कभी तहसील के रखरखाव और साफ सफाई का निरीक्षण भी नहीं करते हैं।