अतरौलिया, आजमगढ़। मोहर्रम सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाने और कांवड़ यात्रा के उद्देश्य को लेकर वृहस्पतिवार को थाना परिसर में शांति समिति से जुड़े सदस्यों एवं ताजियादारों की बैठक हुई। इसमें परंपरागत ढंग से मोहर्रम मनाने की अपील की गई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपजिलाधिकारी नवीन प्रसाद ने कहा कि प्रशासन त्योहारों की भव्यता बनाए रखने के लिए हर संभव सहयोग देता है लेकिन कानून तोड़ने वाले लोग जब सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश करते है तो उनके साथ सख्ती करने में भी कोई कसर नहीं छोड़ता। ताजिया प्रदर्शन में कोई शस्त्र अस्त्र का प्रयोग नहीं करेगा, थानाध्यक्ष रुद्र भान पांडेय ने कहा कि ताजिया जुलूस एवं त्योहार से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए प्रार्थना पत्र पर पुलिस गंभीरता से विचार करेगी, किंतु किसी भी हालत में सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश की गई तो गंभीर परिणाम भुगतना होगा। जिस तरह से जहाँ भी पूर्व में ताजिया दफन किया जाता रहा है।उसी तरह होगा उन्होंने बैठक में आए ताजियादारों से एक-एक कर उनके विचार सुने और उनसे मोहर्रम के दौरान होने वाले मजलिसों और जुलूसों को लिखित रूप से कार्यक्रमों की रूप रेखा देने को कहा और समस्याओं के निराकरण का आश्वासन भी दिया। कोई भी ताजिया का नया रोड नहीं निकालेगा पर आप जो प्रत्येक वर्ष होता था उसी तरह से ताजिया दफन कर आएगा कांवड़ यात्रा को लेकर उन्होंने कहा कि रविवार और सोमवार को सड़क के किनारे अंडा मांस मछली की दुकानें ना लगाएं वहीं सड़क से हटकर जो दुकानें लगाई जाए वहां पर्दा लगाया जाए जिससे कांवरियों को किसी प्रकार की समस्या ना उत्पन्न हो ।आये हुए सभी लोगों से आपसी भाईचारा और सौहार्द के साथ त्यौहार मनाने की अपील की गई। इस मौके पर हिंदू मुस्लिम समुदाय के सम्मानित लोग मौजूद रहे।