अतरौलिया, आजमगढ़। स्थानीय ब्लॉक के समस्त ग्राम सभाओं से कम से कम 100 नवयुवकों को बुलाकर अग्नि सचेतक योजना के अंतर्गत स्वयंसेवक के रूप में अग्नि सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत तीन दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा रहा। यह प्रशिक्षण तीन दिन चलेगा। उत्तर प्रदेश शासन के निर्देशानुसार तीन दिवसीय प्रशिक्षण के उपरांत फायर स्टेशन सर्विस पर चार दिवसीय प्रशिक्षण इन्हीं नवयुवकों को दिया जाएगा, जिसमें फायर सर्विस के निम्न अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहेंगे। इस अवसर पर यफ यस डी लक्ष्मण यादव ने बताया कि अग्नि सचेतक के अंतर्गत ब्लाक से 100 नवयुवकों को चयनित किया गया था जिसमें कुछ नवयुवकों ने ट्रेनिंग छोड़ दी और वह जगह रिक्त हो गई, जिसके लिए पुनः ब्लॉक परिसर में नवयुवकों को बुलाकर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। यह प्रशिक्षण पुलिस अधीक्षक आजमगढ़ तथा मुख्य अग्निशमन अधिकारी के निर्देशन में चल रहा है। नवयुवकों को तीन दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा रहा है जिसमें आग लगने की घटनाओं से बचने और कैसे अन्य लोगों को बचाया जाए उसके बारे में बताया जा रहा। यही नवयुवक गांव में जाकर लोगों को जागरूक करेंगे जिससे लोगों के अंदर अधिक से अधिक जागरूकता आएगी, तत्पश्चात इन्हें चार दिवसीय प्रशिक्षण फायर स्टेशन सर्विस पर दिया जाएगा जिसमें लोगों को अग्निशमन यंत्रों और संसाधनों से परिचय कराते हुए अधिक जानकारी दी जाएगी तथा आग पर कैसे नियंत्रण प्राप्त किया जाए उसके कि बारे में जानकारी दी जाएगी। ट्रेनिंग के उपरांत प्रशिक्षण प्राप्त लोगों को एक सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। इस मौके पर रूप नारायण मिश्रा, एफएसडी लक्ष्मण यादव, फायरमैन आदित्य कुमार आदि मौजूद रहे।