अतरौलिया, आजमगढ़। थाना क्षेत्र के जमीन गोरथानी गांव निवासी धर्मेंद्र की पत्नी लीला 28 वर्ष ने पारिवारिक कलह के कारण जहर का सेवन कर लिया था, उसकी हालत बिगड़ती देख परिजनों ने तत्काल उसे नजदीकी 100 सैया अस्पताल पहुंचाया। जहां उसका इलाज चल रहा था। डॉक्टर अली हसन ने बताया कि महिला ने जहर का सेवन किया था जिससे उसकी हालत काफी चिंताजनक बनी हुई थी। पीड़ित महिला के लंबे इलाज के दौरान आज सोमवार को डॉक्टर अली हसन ने उसे स्वस्थ होने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी। पीड़िता के पति धर्मेंद्र पुत्र बहादुर में इलाज कर रहे डाक्टर अली हसन को धन्यवाद दिया। पीड़ित का इलाज कर रहे 100 सैया अस्पताल के डॉक्टर अली हसन ने बताया कि पीड़िता का इलाज काफी जटिल था। पीड़िता ने जहर का सेवन किया था। पीड़िता का इलाज 28 जुलाई से चल रहा था और उसकी हालत में निरंतर सुधार होता गया। आज पीड़िता पूरी तरह से स्वस्थ हो गई और उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। पीड़िता की आंखों में आंसू थे जो किसी दर्द को बयां कर रहे थे और पीड़िता ने डॉक्टर अली हसन को हाथ जोड़कर धन्यवाद दिया, जिन्होंने उसकी जान बचाई।