अतरौलिया, आजमगढ़। चेहल्लुम के अवसर पर नगर पंचायत में चेहल्लुम का मातमी जुलूस निकाला गया। इस दौरान हजरत इमाम हसन हुसैन को याद कर लोगों की आंखें नम हो गई। नोहा खानों द्वारा गमनिय माहौल में नौहा पढ़ा गया और इमाम हसन हुसैन व अन्य शहीदों को खिराज ए अकीदत पेश की गई। ताजिया तारों ने ताजिया के साथ निर्धारित रूट पर मातमी जुलूस निकाला गया।इस दौरान खिलाड़ियों के ने जगह-जगह अपने खेल का प्रदर्शन कर लोगों को खूब लुभाया, लाठी-डंडे के प्रदर्शन को देखने के लिए लोगों की काफी भीड़ रही। हजरत इमाम हसन हुसैन के चालिसवें की याद में मनाया जाने वाला चेहल्लुम चालिसवां शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया। ताजिया व युवाओं के खेल प्रदर्शन को देखने के लिए दूरदराज से से लोगी की भीड़ उमड़ पड़ी। जुलूस के साथ तिरंगा झंडा देश की आन, बान, शान को दर्शाता नजर आया। जुलूस नूरी मस्जिद से निकलकर बरन चौक, राम जानकी मंदिर होते हुए दुर्गा मन्दिर तिराहे पर पहुंचकर अब्दुल कलाम नगर के ताजिए से मिलन कराकर दोनों मुहल्ले के ताजियादार सब्जी मंडी, जायसवाल त्रिमुहानी, मुसाफिर चौक, गोला क्षेत्र, फिर बरन चौक, दुर्गा मन्दिर तिराहा होते हुए थाना परिसर स्थित कर्बला में देर शाम दफना दिया गया। जहां थाना परिसर में मेले जैसा माहौल रहा।इस दौरान बच्चे व औरतों ने जलेबी तथा अन्य सामानों की जमकर खरीददारी की। इस दौरान थानाध्यक्ष नदीम अहमद फरीदी व प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षक गौरव शर्मा अपने हमराहियों के साथ सुरक्षा व्यवस्था में लगे रहे और मातमी जुलूस पर कड़ी निगरानी रखे रहे।