लाटघाट, आजमगढ़। निपुण भारत मिशन के अंतर्गत बाल वाटिका से लेकर कक्षा 3 के बच्चों तक भाषाई एवं गणितीय दक्षता विकसित करने के लिए प्रशिक्षण का आयोजन सोमवार को बीआरसी अजमतगढ़ पर खंड शिक्षा अधिकारी निर्भय नारायण सिंह के नेतृत्व में प्रारंभ हुआ। प्रशिक्षण का आरंभ सरस्वती वंदना एवं चेतना गीत के साथ हुआ। प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए खंड शिक्षा अधिकारी ने सभी शिक्षकों का आह्वान किया कि जिस प्रकार हम सब से बच्चों में निपुण लक्ष्य की संप्राप्ति के लिए अपेक्षाएं की गई हैं उसी प्रकार हम सब को अपने विद्यालयों में मेहनत से काम करना है। इसके लिए आवश्यक है कि सभी शिक्षक इन 4 दिनों में बताई गई जानकारियों को अच्छे ढंग से सीखे। उन्होंने शिक्षकों से कहा कि कोई भी शिक्षक प्रशिक्षण के दौरान अनुपस्थित नहीं होगा और सभी शिक्षकों को प्रत्येक सत्र में सक्रिय रूप से सभा करना प्रशिक्षण के प्रारंभ में निपुण भारत अभियान के लक्ष्य एवं उद्देश्य पर चर्चा हुई बाल वाटिका का से लेकर कक्षा 3 के भाषा एवं गणित के नियमों को विस्तार से प्रतिभागियों को बताया गया एवं उनसे उनका फीडबैक प्राप्त किया गया। निपुण भारत में किन सीखने के सिद्धांतों जैसे मौखिक भाषा का विकास, लेखन, पठन, गणितीय दक्षता विकास एवं जीवन में बुनियादी कौशलों के विकास पर चर्चा की गई। सत्र 2022- 23 में किस प्रकार विभिन्न कार्य योजनाओं एवं कार्य पुस्तिकाओं के आधार पर हमें बच्चों के साथ काम करना होगा इस प्रारूप को विधिवत समझाया गया। प्रशिक्षण में प्रशिक्षक कमलनयन यादव, अनिल कुमार मिश्र, कुसुम पांडे, विमल प्रकाश, हरिकेश मिश्रा एवं अन्य शिक्षक उपस्थित रहे।