रिपोर्ट, राजेश सिंह 
(अतरौलिया) आजमगढ़। बुधवार दोपहर स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने ब्लॉक परिसर में नारेबाजी करते हुए बाल विकास पुष्टाहार कर्मचारियों पर गंभीर आरोप लगाए तत्पश्चात खंड विकास अधिकारी के नाम एक ज्ञापन एडीओ पंचायत एसबिन्द कुमार यादव को सौंपा । समूह की महिलाओं का आरोप है कि एन आर एल एम योजना के अंतर्गत ड्राई राशन वितरण के लिए समूह अधिकृत है लेकिन बाल विकास परियोजना अधिकारी श्रीमती सीता यादव एवं सुपरवाइजर श्रीमती गीता वर्मा, बड़े बाबू राम प्रताप मौर्य जोकि ब्लॉक पर उक्त तीनों अधिकारी कार्यरत हैं तथा ब्लॉक पर लगातार 5 से 7 वर्षों से जमे हुए हैं जोकि मनमाने तरीके से समूह को ड्राई राशन न देकर सीधे आंगनबाड़ी कार्यकर्ती को देती है और समूह के लोगों के पूछने पर यह कहा जाता है कि आप लोगों से कोई मतलब नहीं है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ती ड्राई राशन वितरण करें या ना करें समूह का कोई मतलब नहीं है।समूह की महिलाओं ने आरोप लगाया कि जब हम लोगों का समूह और आंगनबाड़ी मिलकर वितरण करते थे जिसके लिए हमें अधिकृत किया गया है उस समय राशन समूह और आंगनबाड़ी मिलकर बांटते थे तथा हम लोगों का 2 वर्षों से गाड़ी का भाड़ा व पल्लेदारी एवं परिश्रम की मजदूरी अभी तक नहीं मिला तथा समूह के द्वारा ड्रेस की सिलाई का भुगतान अभी तक नहीं कराया गया जिसकी जांच कर दोषी अधिकारी कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई ।इस मौके पर नर्मदा आजीविका स्वयं सहायता समूह अजगरा, किसान स्वयं सहायता समूह रामपुर खास, वैष्णो महिला स्वयं सहायता समूह महादेवपुर, अमन आजीविका स्वयं सहायता समूह खालिसपुर, धोबी अजीविका स्वयं सहायता समूह छितौनी, प्रजापति महिला आजीविका सहायता समूह मंडोही, आरोही स्वयं सहायता समूह लोहरा, सरस्वती आजीविका मिशन बोधीपट्टी, गौरी आजीविका स्वयं सहायता समूह ख़िरीडीहा की महिलाएं उपस्थित रही।