संवाददाता-राजेन्द्र कुमार
वैशाली/।गंगा स्नानअवसर पर पदाधिकारियों की टीम के साथ हाजीपुर नगर परिषद क्षेत्र के सभी घाटों का निरीक्षण किया गया । इस दौरान जिलाधिकारी कोनहारा घाट से बालाघाट घाट तक गए । कोनहारा घाट पर होने वाले अत्यधिक भीड़ को लेकर स्थल पर उपस्थित कार्यपालक पदाधिकारी नगर परिषद हाजीपुर एवं अनुमंडल पदाधिकारी हाजीपुर को निर्देश दिया गया कि घाट पर आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा के मद्देनजर नदी के जल स्तर को देखते हुए पानी में छठ पर्व की तरह 2 लेयर में बांस बल्ले से बैरिकेडिंग कराई जाए एवं उसमें जाली तथा लाल रंग का कपड़ा लगाना सुनिश्चित कराई जाय ताकि लोग बैरिकेडिंग के अंदर ही स्नान कर सकें एवं उससे आगे नहीं जाने पाए। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी घाटों पर दूर-दराज से आए हुए श्रद्धालुओं को विश्राम हेतु स्थल चिन्हित करते हुए आवश्यकतानुसार पंडाल एवं लाइटिंग ,पेयजल, शौचालय आदि की उचित व्यवस्था कराई जाए।  कोनहारा घाट पर विशेष रूप से साफ सफाई कराने  तथा श्मशान घाट पर जलाने की व्यवस्था कोनहारा घाट के दक्षिण चिन्हित स्थल पर कराने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि घाटों पर साफ सफाई की व्यवस्था सुचारू रूप से रहे इसके लिए बड़े-बड़े डस्टबिन की व्यवस्था करें एवं पर्याप्त संख्या में कर्मियों को लगा कर इसे सुनिश्चित करायें। जिलाधिकारी ने कहा कि स्काउट और गाइड के बच्चों को रामाशीष चौक से कोनहारा घाट तक एवं बीच के मार्गों पर प्रतिनियुक्त करें ताकि श्रद्धालुओं के शुगम रूप से आवागमन में सहयोग कर सकें।सभी घाटों पर सुरक्षा के दृष्टिकोण से पर्याप्त संख्या में नाव नाविक गोताखोर को प्रतिनियुक्त करने तथा नाविकों को जाल एवं लाइफ जैकेट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। कोनहारा घाट से बालाघाट तक श्रद्धालुओं के स्नान के समय सतत निगरानी रखते हुए चालक एवं गोताखोर सहित बोट द्वारा 500-500 मीटर की परिधि में गस्ती कराना सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि वैसे घाट जो खतरनाक है उसे पूर्ण रुप से बंद कराते हुए इसका प्रचार-प्रसार करा दिया जाए ताकि लोगों में भ्रम की स्थिति नहीं रहे।