– मना करने पर अभद्रता करते हुए दी धमकी
पवई, आजमगढ़। पवई थाना क्षेत्र के दोस्तपुर गांव में बुधवार को रास्ते की जांच करने गई राजस्व टीम के सामने ही दबंगों ने उस पर लगे खड़ंजे को उखाड़ दिया और अभद्रता करने लगे। जिसकी सूचना राजस्व निरीक्षक देवकी नंदन पांडेय ने पवई थानाध्यक्ष को दिया। काफी इंतजार के बाद भी जब पुलिस नही पहुंची तो किसी तरह से राजस्व टीम गांव से बाहर निकली। दोस्तपुर गांव में आबादी की जमीन से होकर जा रहे कच्चे रास्ते पर यहां के प्रधान राघवेंद्र यादव द्वारा आवागमन को सुचारू रूप से जारी रखने हेतु 15 दिन पूर्व खड़ंजा लगवाया गया था। जिसके कुछ हिस्से को गांव के ही अमर देव यादव और उसके पुत्र प्रवीण ने एक नवंबर को उखाड़ दिया था। खड़ंजा उखाड़ने और आवागमन बाधित करने की शिकायत मिलने पर उपजिलाधिकारी फूलपुर नरेंद्र कुमार ने राजस्व निरीक्षक माहुल देवकी नंदन पांडेय को जांच कर आख्या देने के लिए आदेशित किया। आदेश के अनुपालन में राजस्व निरीक्षक देवकी नंदन पांडेय क्षेत्रीय लेखपाल राम नारायण पांडेय टीम के साथ मौके पर पहुंचे और प्रधान सहित सारे पक्षों को बुलाया। जैसे ही राजस्व निरीक्षक ने अमरदेव यादव से खड़ंजा उखाड़ने को लेकर प्रश्न किया।तो वह और उसका पुत्र प्रवीण आगबबूला हो गया और राजस्व टीम को गालियां देते हुए पुनः उनके सामने ही रास्ते पर लगे खड़ंजे की ईट को उखाड़ कर फेकना शुरू कर दिए।बात बढ़ती देख राजस्व निरीक्षक ने इसकी सूचना फोन से पवई थानाध्यक्ष राम प्रसाद बिंद को दिया। जब 15 आधे घंटे तक पुलिस नही आई तो वे अपनी टीम के साथ वापस चले गए। इस संबंध में राजस्व निरीक्षक देवकी नंदन पांडेय का कहना है कि दबंगों द्वारा आम रास्ते को उखाड़ने के साथ ही साथ सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न की गई है।क्षेत्रीय लेखपाल के माध्यम से पवई थाने पर शिकायती पत्र भेज दिया गया है।