नवादा। शोभिया-नवादा मे सुदखोर महाजनो (ब्याज पर रूपये देने वाले) के कर्ज से परेशान फल व्यवसायी केदार लाल गुप्ता ने परिवार के छह सदस्यो के साथ जहर खा लिया। इससे परिवार के मुखिया व उनकी पत्नी समेत छह लोगो की एक एक कर मौत हो गयी।घटना बुधवार देर रात शोभिया कृषि फार्म से दक्षिण एक मजार के समीप सुनसान इलाके मे हूई। मृतकों मे स्व, लखन लाल गुप्ता के पुत्र फल व्यवसायी केदार लाल गुप्ता (60) उनकी पत्नी अनिता देवी (52), बेटा प्रिस कुमार (22), बेटी गुड़िया कुमारी (25), शबनम कुमारी (23) व साक्षी कुमारी (17) षामिल है। वही व्यवसायी के बेटे के मोबाइल से दो पन्ने का सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमे सभी की मोत का जिम्मेदार 6 सुदखोरो को बताया गया है। रजौली के अमावां के मूल निवासी थे। केदार लाल गुप्ता जिले के रजौली थाना क्षेत्र के अमावां गांव के मूल निवास थे। वह पिछले 30 वर्षो से अधिक समय से शहर के न्यू एरिया मोहल्ले मे किराये के एक मकान मे रह रहे थे। शहर के पुरानी कचहरी रोड व मेन रोड फल मंडी के समीप उनकी फल की दूकान थी। पुलिस ने इस घटना के लिए जिम्मेदार दो लोगो को गिरफ्तार कर लिया है। इनमे नवादा के रणजीत कुमार और टुनटुन सिंह शामिल है। वही व्यवसायी के भाई शंभूनाथ लाल गुप्ता ने सदर अस्पताल मे पुलिस को बताया कि महाजनो ने उसके भाई व परिवार की जिंदगी तंग तबाह कर रखी थी। भाई के बयान पर नगर थाने मे प्राथमिकी दर्ज की जा रही है।वही पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौप दिये गये। पुलिस को दिये बयान मे केदारनाथ लाल बेटे प्रिस व बेटी साक्षी ने कहा कि कर्ज देने वाले महाजन उन्हें परेशान कर रहा थे। उनके पास 10,12लाख बकाया था। वे लोग सूद भरते जा रहे थे पर खत्म नही हो रहा था। महाजन पेसो के लिए तंग तबाह कर रहे थे। वे लोग कर्ज चुकाने के लिए छह महीने का समय मांग रहे थे।पर वे लोग देने के लिए तैयार नही थे, इसके कारण उन लोगो ने जहर खा लिया। बेटे प्रिस ने कहा कि सभी महाजनो के नाम डायरी मे लिखे है और उसका स्क्रीन शांट उसके फोन मे मौजूद है पुलिस ने वह मोबाईल भी जब्त कर लिया है।