फूलपुर, आजमगढ़। फूलपुर और ग्रामीण इलाकों में रबी सीजन में गेंहू,आलू सहित अन्य फसलों की बुआई तेज हो गई है लेकिन वर्तमान समय मे साधन समितिओ पर डीएपी खाद स्टाक से नदारत है। इसके चलते रबी एवं अन्य फसलों की बुआई नही हो पा रही है। फूलपुर में सुदनीपुर, चमावां, बख्शपुर सहित कुल ग्यारह समितियां है। इन समितियों पर डीएपी न होने से किसानों को बाहर दुकानों से डीएपी अधिक कीमत देकर खरीदना पड़ रहा है। जब की किसानों द्वारा इसकी शिकायत भी की गई लेकिन न तो दुकानों पर छापे की कार्यवाही की गई और न ही समितियों पर डीएपी उपलब्ध की जा रही है। फूलपुर क्षेत्र के 11 समितियों पर डीएपी न रहने के कारण किसानों को बिना डीएपी निराश होकर वापस जाना पड़ रहा है।जिसके चलते खेतो में आलू गेहूँ, सरसो, मटर सहित कई अन्य रबी की फसल की बोआई प्रभावित है। किसान डीएपी के लिये समितियों का रोज़ चक्कर काट रहे है लेकिन उन्हें सिर्फ मायूसी ही मिल रही है। किसानों का कहना है कि दुकानों पर डीएपी मिलने से उनकी चांदी कट रही है और उसे ऊंची कीमत में बेचा जा रहा है। किसान अनसर, दयाशंकर, सूरत, फिरतू का कहना है कि अगर समय से डीएपी खाद मिल जाय तो गेहूं की बोआई समय से हो जाये।और पैदावार भी अच्छी होगी। सुबह शाम समिति का चक्कर लगाते लगाते थक गए है। अन्य किसानों का कहना है हर साल सीजन में डीएपी का संकट झेलना पड़ता है। इस संबंध में फूलपुर ब्लाक एडीओ कोआपरेटिव आरपी वर्मा ने बताया कि डीएपी की डिमांड कि गई है। शीघ्र आने की संभावना है।