पवई, आजमगढ़। मुख्य चिकित्सा अधिकारी आजमगढ़ डॉक्टर इंद्र नारायण तिवारी ने सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पवई का औचक निरीक्षण किया। जिससे अस्पताल सहित आसपास के मेडिकल स्टोरों, व पैथोलॉजी सेंटरों के संचालकों में अफरा-तफरी मच गई। अस्पताल के बाहर तमाम मेडिकल स्टोर और पैथालॉजी सेंटरों के शटर धड़ाधड़ बंद हो गए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी इंद्र नारायण तिवारी अपरान्ह दो बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचे। उसके बाद यहां के चिकित्सा अधीक्षक डॉ अजय यादव को साथ लेकर पुरुष वार्ड महिला वार्ड सहित शौचालय आदि की साफ सफाई का गहन निरीक्षण किया, जहां पर सब सब कुछ ठीक ठाक पाने के बाद वे कार्यालय में आकर बैठ गए और वहा के प्रभारी अजय यादव से अधिकारी कर्मचारी उपस्थित पंजिका सहित, उपलब्ध दवाओं स्टॉक रजिस्टर आदि को गहनता से चेक किया। जहां निरीक्षण किया। जैसे ही वे अस्पताल के बाहर निकले तो उनकी निगाह अस्पताल गेट के आसपास गंदगी और मेडिकल स्टोर आदि दिखाई दिया। जिसे देख चिकित्सा अधीक्षक डा अजय यादव पर भड़क गए और कहा कि इसे तत्काल हटवाया जाय। उसके बाद वे वाहन पर सवार होकर चले गए लेकिन 15, मिनट बाद वे पुनः वापस आ गए। जिससे फिर अफरा-तफरी मच गई। उसके बाद वे अस्पताल के बाहर रुक कर जकुछ बंद मेडिकल स्टोरों, पैथोलॉजी सेंटरों पर लॉक लगाते हुए अधीक्षक डॉ अजय यादव को उन मेडिकल व पैथोलॉजी सेंटरों पर एफ आई आर करने का निर्देश देकर चले गए। इस कार्रवाई से अवैध मेडिकल स्टोर व पैथोलॉजी संचालकों में भय का माहौल व्याप्त है।