बेतिया। राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर 16 नवंबर को समाहरणालय के सभाकक्ष में एक परिचर्चा का आयोजन किया गया चर्चा का विषय था राष्ट्र निर्माण में मीडिया का योगदान जिसका उद्घाटन जिलाधिकारी कुंदन कुमार अपर समाहर्ता राजीव कुमार सिंह डीपीआरओ अनंत कुमार एवं वरिष्ठ पत्रकार मोहन सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने अपने वक्तव्य में मीडिया कर्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें अपनी सोच बदलनी होगी और सकारात्मक सोच से ही राष्ट्र का निर्माण किया जा सकता है आप मीडिया के बदौलत है। पश्चिम चंपारण जिला न सिर्फ देश बल्कि विदेशों में भी स्टार्टअप जोन के माध्यम से अपनी पहचान और स्थान बना चुका है। उन्होने कहा कि मीडियाकर्मियों में नकारात्मक सोच की कोई जगह नहीं होती है वे जो भी लिखते वह चलाते हैं जिला प्रशासन उस पर पूरी नजर रखती है और उस दिशा में पहल भी करती है। मीडिया कर्मियों के सहयोग के बिना जिला, प्रदेश एवं राष्ट्र का निर्माण संभव नहीं होता। अपर समाहर्ता राजीव कुमार सिंह मैं कहा कि 16 नवंबर 1966 को भारतीय प्रेस परिषद का गठन हुआ था उसी दिन पूरा देश राष्ट्रीय प्रेस दिवस के रूप में मनाता है। इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार मोहन सिंह, भारतीय ग्रामीण पत्रकार संघ के प्रदेश अध्यक्ष अमानुल हक, प्रोफेसर अजय कुमार मिश्र, शकील अहमद, आशीष गुप्ता, सतेंद्र पांडे, एसके राव, डॉ घनश्याम, आशुतोष कुमार बरनवाल आदि पत्रकारों ने परिचर्चा में भाग लिया