बेतिया। बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव अपने दो दिवसीय प्रवास यात्रा पर पश्चिम चम्पारण दौरे के दौरान वाल्मीकिनगर पहुंचे हैं।जहां उन्होंने बिहार के इकलौते वाल्मीकिनगर टाइगर रिजर्व में जंगल सफारी किया। इस दौरान उन्होंने जटाशंकर और कौलेश्वर धार्मिक स्थान पर पूजा अर्चना के बाद पौधरोपण भी किया। डिप्टि सीएम ने हाथी शेड का निरीक्षण किया और हाथियों से आशीर्वाद लिया। आखिर में उन्होंने गंडक नदी में मोटर बोटिंग का लुफ्त उठाया। गैरतलब हो कि बिहार के उपमुख्यमंत्री का चम्पारण में दो दिवसीय दौरा है। सबसे पहले तेजस्वी शुक्रवार को अमवामन झील में बने वाटर स्पोर्ट्स पार्क का निरीक्षण करने पहुंचे थे। फिर लौरिया के बौद्ध स्तूप और नंदन गढ़ का भ्रमण किया।
डिप्टी सीएम 19 नवंबर शनिवार को वाल्मीकिनगर से चनपटिया स्टार्टअप जोन पहुंचेंगे और मजदूर से मालिक बने उधमियों के स्टॉल का निरीक्षण करेंगे. दो दिनों का यह दौरा चम्पारण के लिए बेहद खास है क्योंकि तेजस्वी चाहते हैं कि पर्यटन नगरी वाल्मीकिनगर को पर्यटन के क्षेत्र में दुनिया के मानचित्र पर नया मुकाम हासिल हो लिहाज़ा पर्यटन के बढ़ावा को लेकर प्रस्तावित योजनाओं के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि वाल्मीकिनगर बेहद खूबसूरत और रमणिक स्थल है जो दर्शनीय तो है ही प्रकृति के गोद मे बसे नदी, पहाड़ औऱ जंगल से घिरा शुकुन वाला इलाका है जिसे बिहार का कश्मीर भी कहा जाता है लिहाज़ा पर्यटकों की संख्या बढ़े देश विदेश से भारी संख्या में सैलानी यहां पहुँचे यहीं वज़ह है कि डिप्टी सीएम तेजस्वी वीटीआर में संसाधनों को विकसित करने की कोशिश में हैं।
बता दें कि अमवामन झील में बने वाटर स्पोर्ट्स पार्क गोवा कि तर्ज पर बना है. बिहार का पहला ऐसा जिला पश्चिम चंपारण है और देश का तीसरा ऐसा पर्यटन स्थल है. जहां पैरासेलिंग कि शुरूआत कि गई है जो पर्यटकों को लुभाने के लिए सरकार यहां पर पैरासेलिंग के साथ गलैडिंग, जार्बिग बाल, तमाम तरह की अत्याधुनिक संसाधन व सुविधाये इस पार्क में लैस की गई हैं। वहीं बगहा को राजस्व ज़िला बनाने के लिए उन्होनें आश्वासन देते हुए कहा कि आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद ने1996 में पुलिस ज़िला बनाया तो संभव है कि आगे यहां ज़िला जैसी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए काम किया जायेगा।