पवई, आजमगढ़। पिछले पांच सालों से गिट्टी मिट्टी डालकर चलने योग्य बनाया जाता है। इस रोड को जिले की अंतिम सीमा पर स्थित इस रोड से जौनपुर, सुल्तानपुर, अम्बेडकर नगर, आजमगढ़ चार जिले के लोग जनपद तक कोर्ट और आवश्यक कार्य से जाते है। इस रोड पर शाहमर्दानपुर, रामपुर खुर्द, मरहट, रामपुर कलां, अलीनगर, गालिबपुर, कलान आधा दर्जन गांव के लोग पवई बाजार आवश्यक कार्य से आते हैं। इस रोड पर हजारों की संख्या में छात्र-छात्राओं का डेली स्कूल जाना रहता है। विभाग की उदासीनता का आलम यह है कि गड्ढा मुक्ति रोज किया जाता है। आधा दर्जन विभागीय कर्मचारी फावड़ा पलड़ा लेकर रोज गिट्टी मिट्टी डालकर गड्ढा मुक्ति करते रहते है। सड़क के किनारे निवास करने वाले लोग धूल से पट जाते है। बड़े वाहन के आने जाने पर धूल के कारण अंधेरा छा जाता है। लोग धूल ख़त्म होने का इंतजार कर फिर आगे जाते है।रोड के किनारे निवास करने वाले घरों में धूल पट जाती है। लोग इस रोड से गुजरना नहीं चाहते। विभाग को कोसते नजर आते है।