– एसडीएम को ज्ञापन देकर की ठेका हटवाने की मांग
माहुल, आजमगढ़। स्थानीय नगर के अहरौला रोड पर हाल में ही खुले देशी शराब के ठेके को लेकर स्थानीय नागरिकों में आक्रोश व्याप्त हो गया है। सोमवार को दर्जनों की संख्या में ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी फूलपुर पहुंचकर ठेके को अन्यत्र स्थानांतरित करने की मांग की है। माहुल में जहरीली शराब कांड के बाद यहां का देशी शराब का ठेका कुछ दिन बंद रहा। उसके बाद राजस्व की हानि को देखते हुए आबकारी विभाग द्वारा इसे पन्द्रह-पन्द्रह दिन के लिए अस्थाई लाइसेंस देकर इसे चलवाया जा रहा था। हाल में ही इसका एक वर्ष के लिए टेंडर के बाद ठेके को स्थाई रूप से खोलने का लाइसेंस पारित किया गया है। इससे पहले यह ठेका माहुल के अहरौला रोड पर गौसपुर मोड़ के पास चल रहा था। उपजिलाधिकारी फूलपुर नरेंद्र कुमार गंगवार को दिए गए ग्रामीणों ने यह आरोप लगाया है कि ठेकेदार द्वारा इस देशी शराब के ठेके को आबादी के बीच में राष्ट्रीय राज्य मार्ग से सट कर खोला गया है यही नहीं खुले ठेके से महज 25 मीटर की दूरी पर दुर्गा जी का मंदिर और 100 मीटर पर विद्यालय है। इसके यहां खुलने से आबादी में रहने वाले नागरिकों, मंदिर पर पूजा करने वाले श्रद्धालुओं सहित स्कूल कालेज जा रहे विद्यार्थियों को काफी परेशानी हो रही। ग्रामीणों ने दिए गए ज्ञापन में इसे आबादी से दूर स्थानांतरित करने की मांग की है। इस मौके पर श्याम सिंह, भाजपा युवा मोर्चा के माहुल मंडल अध्यक्ष अभिषेक गुप्ता, मोहन सोनकर, परवेज अमरजीत, सूरज कुमार, बिरेन्द्र यादव आदि रहे।