अतरौलिया, आजमगढ़। ब्लॉक के पेड़रा ग्राम सभा और अंबेडकरनगर की सीमा पर स्थित नाला में अधिक पानी आने से सैकड़ों किसानों की फसल डूब गई। किसान रात भर अपने खेत से पानी निकालने में लगे रहे ताकि किसी तरह से उनकी फसल बच जाए। स्थानीय किसानों का आरोप है कि जब पानी की जरूरत होती है तब नहर में पानी नहीं छोड़ा जाता है और जब जरूरत नहीं होती है तो नहर में अधिक पानी छोड़ दिया जाता है। यही मामला एक बार फिर देखने को मिला जब किसानों को जरूरत थी तब नहर में पानी नहीं आया और अब जब किसान किसी तरह से अपनी फसल की सिंचाई कर चुके हैं तो नहर में इतना अधिक पानी छोड़ दिया गया कि बड़े नाले से पानी किसानों के खेतों में जा रहा है। किसानों की सैकड़ों बीघे की खेती बर्बाद होती नजर आ रही है। कुछ अंबेडकर नगर की खेती बर्बाद हो रही है तो वहीं आजमगढ़ की भी कुछ खेती बर्बाद होती नजर आ रही है। ऐसे में किसानों में भारी आक्रोश देखने को मिल रहा है। अनंतपुर गांव के रहने वाले छोटे लाल ने बताया कि लगभग 200 से 250 सौ बीघे से ज्यादा फसल बर्बाद हो रही है। सिंचाई विभाग की लापरवाही की वजह से हम लोग भूखों मरने के कगार पर हैं। हम लोग किसी तरह से खेतों से पानी निकालने में जुटे हैं लेकिन कहीं उचित मार्ग न होने की वजह से हम लोगों के खेतों से पानी नहीं निकल रहा है और खेती बर्बाद हो रही है। छोटेलाल ने बताया कि लगभग 100 से ज्यादा किसानों की फसलें बर्बाद होने के कगार पर हैं। विजय प्रकाश, सुभाष, मोहन समेत अन्य कई किसानों ने बताया कि उनकी भी कई बीघे की फसल पानी लग जाने से बर्बाद होने के कगार पर है। बता दे कि क्षेत्र में कुछ ऐसी भी नहरें हैं जिनमें अभी तक पानी पहुंचा ही नहीं। तो वहीं कुछ ऐसी नहरें हैं जिनमें ओवरफ्लो की समस्या है। लेकिन सिंचाई विभाग पूरी तरह से लापरवाह बना हुआ है और किसानों को बर्बाद करने पर तुला हुआ है। इस मामले में पीड़ित किसानों ने दोषी अधिकारियों पर तत्काल कार्रवाई की मांग की है।