अतरौलिया, आजमगढ़। नगर पंचायत समेत ग्रामीण इलाकों में मकर संक्रांति पर्व मनाने की तैयारी में लोग जुटे है वही सामानों के भाव बढ़ने का भी लोगो पर कोई असर नहीं दिख रहा है। 15 को शुभ मुहूर्त में खिचड़ी का त्योहार मनाया जाएगा। बता दे कि मकर संक्रांति पर्व मनाने के लिए बाजार में दुकानें सज गई हैं। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष मकर संक्रांति के सामानों के मूल्य में करीब 20 फीसदी बढ़ोतरी हुई है, उसके बावजूद बाजार में काफी रौनक है। आज शनिवार को लोग तिल, चावल, लाई, मक्का, मूंगफली आदि की खरीदारी करते नजर आए तो धूप खिलने से बाजार में लोगों की अच्छी भीड़ रही। मकर संक्रांति के लिए महिलाएं सप्ताह भर पहले से तैयारी शुरू कर देती हैं। लोग घर के अलावा रिश्तेदारी में खिचड़ी भी भेजने की परंपरा का निर्वहन करते है। मकर संक्रांति पर लोग अपने घरों में भूजा और गुड़ से तैयार लइया बांधते हैं। शनिवार को भूजा, गुड़,तिलकुट सहित अन्य सामान खरीदने के लिए लोग नगर पंचायत व आसपास के क्षेत्रों में दुकानों पर पहुंचे, लोग चना, बेसन, चिउड़ा, भूजा, मूंगफली और तिल आदि खरीदते नजर आए। मकर संक्रांति की तैयारी में खरीदारी के लिए कम ग्राहक आ रहे हैं जिसे लेकर दुकानदार मायूस है,पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार मूल्य में करीब 20 फीसदी बढ़ोतरी हुई है इसके बावजूद त्योहार को लेकर लोगों में उत्साह है। दुकानदार शिव कुमार गुप्ता, संदीप मोदनवाल ने बताया कि मकर संक्रांति पर्व आस्था से जुड़ा हुआ है। बहन-बेटियों के यहां लाई, गुड़ और तिल भेजने की परंपरा है। इसलिए इसकी तैयारी पहले से ही की जा रही थी, महंगाई व ठंड के चलते दुकानों पर बिक्री कम हो रही है। बाजार में रौनक तो बढ़ी है लेकिन खरीदार नजर नहीं आ रहे। स्थानीय निवासी पवन कुमार ने बताया कि दुकान पर रंग बिरंगी पतंग सजाई गई है आज ग्राहकों की अच्छी खासी भीड़ दुकान पर दिखाई दे रही है सुबह से अच्छी दुकानदारी चल रही है पतंग की काफी डिमांड बढ़ी हुई है इसे लेकर पहले से ही पतंग का स्टॉक बनाया गया था वही दुकान पर चाइनीज मांझा की बिक्री बंद कर दी गई है।