– ब्लॉक परिसर में किया विरोध प्रदर्शन जमकर की नारेबाजी
अतरौलिया, आजमगढ़। प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर आज सोमवार को अतरौलिया ब्लॉक परिसर में अखिल भारतीय प्रधान संघ के नेतृत्व में ऑनलाइन हाजिरी के संबंध में 14 सूत्री मांग को लेकर प्रधान संघ द्वारा अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार व धरना प्रदर्शन किया गया। इस दौरान प्रधान संघ ने 14 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी राजकुमार को सौंपा। ऑनलाइन हाजरी का विरोध करते हुए प्रधान संघ के लोगों ने बताया कि सरकार को यह फैसला वापस लेना ही पड़ेगा ।14 सूत्री मांगों में मुख्य रूप से बताया गया कि अतरौलिया में नेटवर्क की गंभीर समस्या रहती है मोबाइल से हाजिरी नहीं लग पा रही अतः मोबाइल मॉनिटरिंग व्यवस्था पर तत्काल रोक लगाई जाए और पुरानी व्यवस्था लागू रहे। मनरेगा का पैसा ग्राम पंचायतों के खाते में भेजा जाए। ग्राम प्रधान को न्यूनतम मानदेय 30 हज़ार रुपये प्रतिमाह प्रदान किया जाए। ग्राम सचिवों की तैनाती हेतु तत्काल कलस्टर व्यवस्था समाप्त की जाए तथा नई नियुक्त कर प्रति पंचायत में एक स्थाई सचिव तैनात किए जाएं। ग्राम पंचायत को कार्यदायी संस्था माना जाए और प्रति ग्राम पंचायत एक स्थाई जेई की तैनाती की जाए। ग्राम प्रधानों के अनुरोध पर शस्त्र लाइसेंस वरीयता के आधार पर प्रदान किया जाए। मनरेगा द्वारा कराए गए कार्यों का बकाया मटेरियल और लेबर के पैसों का तत्काल भुगतान कराया जाए। इस दौरान मनरेगा मजदूरों ने हाथ में दफ़्तीयो पर लिखा स्लोगन लेकर प्रधान संघ के साथ ब्लाक परिसर में विरोध प्रदर्शन किया। इसी तरह अन्य मांगों को लेकर प्रधान संघ के लोगों ने विरोध जताया। इस मौके पर किरण प्रकाश वर्मा, राम जी मौर्य, बलराम यादव, राम नारायन यादव, धर्मेंद्र कुमार, अजीत कुमार, रमाकांत यादव, रविंद्र विश्वकर्मा, राज कपूर पूर्वांचल, सुनील प्रजापति, राजेश यादव, संजय सिंह, महावीर, नरसिंह, रमेश निषाद, केके यादव सहित मनरेगा मजदूर भी उपस्थित रहे।