माहुल, आजमगढ़। स्थानीय नगर के अहरौला रोड स्थित देशी शराब की दुकान को बंद कराने को लेकर सोमवार को महिलाओ ने ठेके के सामने धरना देना शुरू कर दिया। सूचना पर माहुल चौकी प्रभारी लालबहादुर बिंद पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और धरना दे रही महिलाओ को समझा बुझा कर शांत कराया। फरवरी 2022 में माहुल में हुए जहरीली शराब कांड के बाद कई महीने तक यहां का देशी शराब का ठेका बंद था। नवंबर माह में प्रशासन द्वारा टेंडर कराया गया। उसके बाद अनुज्ञापी द्वारा यहा के अहरौला रोड पर आबादी के मध्य देशी शराब की दुकान खोली गई। दुकान खुलने के बाद से ही आसपास के लोगो द्वारा इसका विरोध किया जा रहा था। इस संबंध में ग्रामीणों द्वारा उपजिलाधिकारी फूलपुर को लिखित शिकायती पत्र भी दिया गया था। एक माह बीत जाने के बाद भी जब ठेका बंद नही हुआ तो सोमवार दिन में तीन बजे आसपास की एक दर्जन महिलाएं ठेके के सामने धरने पर बैठ गई और ठेके को बंद कराने की मांग करने लगी। महिलाओ को धरने पर बैठा देख आसपास के घरों के लोग भी महिलाओ के समर्थन में आ गए और महिलाओ के साथ मिलकर ठेके को आबादी से दूर स्थानांतरित करने की मांग करने लगे। ठेके के सामने धरना और प्रदर्शन की सूचना मिलने पर चौकी प्रभारी माहुल लालबहादुर बिंद पुलिस बल के साथ पहुंचे और धरना दे रहे लोगो को समझा बुझा कर शांत कराया। यह धरना करीब डेढ़ घंटे तक चला। इस मौके पर पुष्पा यादव, सरोज सिंह, कौशल्या गुप्ता संगीता गौड़, राम सिंह, राजकुमारी प्रजापति, सीमा राजभर आदि रहे।