रिपोर्ट, वरुण सिंह
आजमगढ़ जिला कारागार में चोरी-छिपे गांजा तस्करी करने वाले चार अभियुक्तों को सिधारी पुलिस ने गिरफ्तार किया है गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से पुलिस ने 4 किलो गांजा भी बरामद किया है, सिधारी थाने में तैनात उ0नि0 नरेन्द्र विक्रम सिंह SI अमरनाथ व हमराहियों के साथ मौजूद थे कि मुखबिर से सूचना मिली कि अभी-2 इटौरा तिराहे पर तीन महिलाये आटो से उतरी है, तथा इटौरा तिराहे पर होटल में बैठकर आपस में बात कर रही थी, आज जेल में बन्द अरमान S/O दिलशाद तथा इस्माईल S/O निसार से मुलाकात कर गांजा देना है। जिसके लिये अरमान ने कल मुलाकात में रुपये दिये थे। वे सभी हाथ में झोला भी लिये है । इस सूचना पर क्षेत्राधिकारी नगर को अवगत कराकर इटौरा आने हेतु अनुरोध किया गया। तथा तत्काल रवाना होकर इटौरा तिराहा पर पहुँचा तो देखा कि 04 महिलाये जेल की तरफ जाती दिखाई दी, जिनके करीब पहुचकर जेल कालोनी के गेट इटौरा के सामने रोका गया तथा हमराह दोनो महिला आऱक्षियो को उनकी तलीशी लेने की हिदायत कर उनका नाम पता पूछा गया तो पहली महिला ने अपना नाम शबनम D/O सदरुद्दीन निवासी बरहती जगदीशपुर PS जहानागंज जिला आजमगढ़ बताया जिसके द्वारा लिये गये सफेद रंग के धारीदार प्लास्टिक के झोले की तलाशी मु0आ0 द्वारा ली गई तो झोले उपर रखे गये टमाटर, हरा मिर्ची के नीचे एक काले रंग की पन्नी में रखा गांजा बरामद हुआ तथा तथा दुसरे ने अपना शबाना D/O सदरुद्दीन निवासी उपरोक्त बताया जिसके द्विरा लिये गये नीले धारी दार झला में रखी फूल गोभी, हरी धनिया के नीचे से एक काली प्लास्टिक की पन्नी में रखा गांजा बरामद हुआ।
 तीसरी महिला ने अपना नाम शहनाज D/O सदरुद्दीन बताया तथ पता उपरोक्त बताया जिसकी जामा तलाशी म0आ0 द्वारा ली गई त उसके द्वारा लिये गये सफेद प्लास्टिक के झोले में रखे गाजर के नीचे काली प्लास्टिक के पन्नी में रखा गांजा बरामद हुआ तथा गोद में लिये बच्चा वाली महिला से पूछने पर अपना नाम मदीना W/O मुन्तजिल पता उपरोक्त बताया जिसकी जामा म0आ0 द्वारा ली गई तो उसके द्वारा लिये गये सफेद प्लास्टिक के झोले मे गोभी टमाटर के नीचे रखे एक काली रंगी की प्लास्टिक की पन्नी में गांजा बरामद हुआ शबनम व शबाना उपरोक्त के पास से क्रमशः 2 हजार व तीन हजार रुपये नगद भी बरामद  हुआ । बता दें कि शबाना, सबनम, शहनाज का बहनोई इस्माईल जिला कारागार में बन्द है। जिसका दोस्त अरमान पुत्र दिलशाद निवासी नोहरा psदिदारगंज आजमगढ़ है। जिनसे हम लोग मुलाकात करने हम लोग अक्सर जाते है। तथा उन लोग के कहने पर हम लोग अपने कपड़ो के अन्दर गांजा छिपाकर मुलाकात के दौरान उन्हे दे देते है। जिसके बदले हम लोगो को वे रुपये देते है। कल हम लोग मुलाकात किये थे तो उन्होने हमे रुपये दिये थे जिनका आज गांजा खरीदकर हमलोग अंदर पहुँजाने जा रहे थे।