लालगंज, आज़मगढ़। स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लापरवाही से प्रसूता की मौत पर परिजनों के हंगामा कर दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। देवगांव कोतवाली अन्तर्गत कपसेठा गाँव निवासी सूर्यबली की पुत्री रंजना शनिवार की भोर में प्रसव पीड़ा से पीड़ित थी। परिजनों की सूचना पर एम्बुलेंस ने रंजना को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती करा दिया। जहाँ पर स्टॉपनर्स द्वारा सामान्य प्रसव कराने के प्रयास में शरीर पर दबाव डाला गया। जिसके चलते कुछ देर में बच्ची का जन्म हुआ। जन्म होते ही जच्चा बच्चा की हालत बिगड़ने लगी। परिजनों ने इसकी सूचना चिकित्सा अधीक्षक डॉ विंध्याचल सिंह को दिया जिसे उन्होंने गंभीरता पूर्वक नही लिया जिसके कारण कुछ देर में प्रसूता की मौत हो गयी। परिजन बच्ची को ले कर प्राइवेट चिकित्सक के यहाँ चले गए। प्रसूता की मौत से परिजन काफी आक्रोशित होकर हंगामा करने लगे। हंगामा की सूचना पर प्रभारी निरीक्षक देवगांव गजानन्द चौबे मौके पर पहुँच कर मामले की गंभीरता को देखते हुए शव को कब्जे में ले कर पोस्टमार्टम के लिए भेजने की प्रक्रिया शुरू किया तब जा कर हंगामा शांत हुआ। रंजना कि शादी मेहनाजपुर थाना क्षेत्र के जामुडीह निवासी हरिश्चन्द्र के साथ हुई थी। चिकित्सा अधीक्षक के व्यवहार से लोग काफी आक्रोशित है।