– नारी शक्ति संस्थान व शेल्टर होम की संचालिका के सहयोग से युवती पहुंची परिजनों के पास
सगड़ी, आजमगढ़। जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के कस्बा निवासी महिला जो नागपुर महाराष्ट्र में मिली थी को शेल्टर होम से लेकर संचालिका मीनू महेंद्र कुमार रावत व मयूर सावण ने नारी शक्ति संस्थान के सहयोग से जीयनपुर थाने पर परिजनों को किया सुपुर्द। जानकारी के अनुसार शांति नगर पुलिस स्टेशन महाराष्ट्र के सिपाहियों को रेलवे स्टेशन पर 12 जनवरी की रात्रि 9 बजे जीयनपुर कस्बा निवासी उषा देवी मिली जिनको शांति नगर पुलिस स्टेशन के द्वारा 12 जनवरी की रात्रि 11ः30 बजे नागपुर स्थित गरज शेल्टर होम पर रखा गया वही उषा देवी तब से लेकर शेल्टर होम पर रही वह बार-बार अपने घर जीयनपुर अपने माता व भाई के पास जाने की जिद कर रही थी जिस पर शेल्टर होम की संचालिका मीनू महेंद्र कुमार रावत व मयूर सावण ने आजमगढ़ जनपद की नारी शक्ति संस्थान की मदद से उसके परिजनों से संपर्क किया वही महिला उषा देवी को शनिवार की शाम 5 बजे लेकर परिजनों को देने के लिए निकली रविवार को दिन में 2 जीयनपुर थाने पर नारी शक्ति संस्थान आजमगढ़ की डॉक्टर पूनम तिवारी, दीपशिखा पांडेय, अनूपमा तिवारी, रश्मि डालमिया के साथ पहुंची जहां जीयनपुर कोतवाल यादवेंद्र पांडेय ने उषा देवी के भाई अशोक मद्धेशिया को बुलाया वही उषा की पुत्री गुंजा भी अपनी मां को लेने के लिए जीयनपुर कोतवाली पर पहुंची। अपने परिजनों से मिलकर उषा देवी भावुक होकर रो पड़ी व अपनी बेटी गुंजा देवी को बिस्कुट देकर दुलार किया और कहा कि अपनी मां के साथ ही रहूंगी। जहां सभी की उपस्थिति में उषा देवी को उनके भाई अशोक व परिजनों को सुपुर्द किया गया वही उषा देवी ने बताया कि भाभी ने ही उसे ले जाकर रेलवे स्टेशन तक छोड़ा था विदित हो उषा देवी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है जो पूर्व में भी घर से फरार हो चुकी है। वही नारी शक्ति संस्थान की संचालिका डॉ पूनम कुमार तिवारी ने परिजनों को इलाज कराने व देखभाल के लिए समझाया।