अतरौलिया, आजमगढ़। स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर नसबंदी को बढ़ावा देने के लिए समाज में जन जागरूकता लाने को लेकर सारथी वाहन को हरी झंडी दिखाकर डॉ एसडी खान ने किया रवाना। स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पुरुष एवं महिला नसबंदी के विषय में समाज में जानकारी देने लोगों को इसके फायदे को लेकर जागरूक कराने के क्रम में स्वास्थ्य प्रशासन द्वारा 20 जनवरी से 31 जनवरी तक एक अभियान चलाया जा रहा है इस अभियान के तहत आज एन एस बी सुर्जन डॉक्टर एचडी खाने एक सारथी वाहन को हरी झंडी दिखाकर अस्पताल से रवाना किया ।यह सारथी वाहन ग्रामीण क्षेत्र में तय समय सारणी के हिसाब से ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण करेगा एवं इसके लिए लोगों को जागरूक करेगा। सारथी वाहन के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में आशा एवं एनम को भी इस अभियान को सफल बनाने के लिए जिम्मेदारी दी गई है । डॉ एस डी खान ने बताया कि एक स्वस्थ समाज विकसित परिवार के निर्माण के लिए जनसंख्या नियंत्रण जरूरी है ।जनसंख्या नियंत्रण में पुरुष एवं महिला दोनों भागीदारी निभा सकते हैं। पुरुष एवं महिलाओं के लिए नसबंदी जहां स्थाई है तो वही अस्थाई रूप से नसबंदी के लिए विभिन्न तरीके अपनाएं जा सकते हैं जिसमें कंडोम, माला एन, छाया, पीआईयूसीडी, अंतरा इंजेक्शन आदि हैं जिससे परिवार नियोजन योजना को सफल बनाया जा सकता है। स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी डॉ शिव कुमार ने बताया कि महिला एवं पुरुष नसबंदी को समाज में बढ़ावा देने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र क्षेत्र के समस्त अट्ठारह उप केंद्रों पर सास बेटा एवं बहू का सम्मेलन भी आयोजित कराया जाएगा जिससे लोग जागरूक हो सके एवं परिवार नियोजन अपना सकें। इस मौके पर बीपीएम शिवकुमार, सुरेश पांडे, संजय कुमार श्रीवास्तव, सुमन चौरसिया सहित समस्त आशा संगिनी एवं अन्य लोग मौजूद रहे।