वैशाली/बिदुपुर। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा नेता हरेश कुमार सिंह ने कहा कि तेईस जनवरी अठारह सौ संतानवे में ओड़िशा के कुट्टक गांव में अधिवक्ता जानकीनाथ बोस, माता प्रभावती के संतान के रूप में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का जन्म हुआ थी।उन्होंने देश की आजादी के लिए सर्वस्व न्यौछावर कर दिया था। द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान उन्होंने जय हिन्द का नारा दिया था जो भारत का राष्ट्रीय नारा बन गया है। अपने देश वासियों को संबोधित करते हुए कहा था किसी भी राष्ट्र के लिए स्वाधीनता सर्वोपरि है इसे देश की आत्म प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाकर स्वतंत्रता संग्राम के महायज्ञ में कुद पड़े।राष्ट्र स्वाधीनता के आह्वान पर आजादी के दिवानों ने आजाद हिन्द फौज का गठन कर दिया। नेताजी समस्त मानव समाज के सभी जातियों को विकसित बनाना चाहते थे।वे ऐसे वीर सैनिक थे मातृभूमि की स्वतंत्रता के लिए देश से बाहर रहकर भी ओजस्वी वाणी की बदौलत स्वाधीनता आंदोलन चलाया। उन्होंने देश वासियों को संबोधित कर कहा था तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा। त्याग, बलिदान से जो आजादी मिले उसकी रक्षा करने की ताकत हमारे अंदर होनी चाहिए। नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का जीवन हमें निस्वार्थ भाव से जीवन पर्यन्त मातृभूमि की सेवा करने की प्रेरणा देता है। इस अवसर पर बिदुपुर पश्चिमी भाजपा मंडल उपाध्यक्ष आमोद कुमार शर्मा, चन्दन कुमार साह, मनोज सिंह, अभिरंजन कुमार, मनीष कुमार, विक्की झा, मृत्युंजय कुमार, रविन्द्र सिंह यादव, राहुल कुमार सहित काफी संख्या में उपस्थित लोगों ने राष्ट्र नायक नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित कर उनके विचारों को जन जन तक पहुंचाने का आह्वान किया।