आजमगढ़। विकासखण्ड कोयलसा के ग्रामपंचायत रामपुर दसराजपट्टी में राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर सोशल एक्टिविस्ट धर्मेन्द्र जायसवाल द्वारा संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान पीसीपीएनडीटी एक्ट, पाक्सो एक्ट, इमरजेंसी हेल्पलाइन 112, वुमेन पावर लाइन 1090, महिला हेल्पलाइन 181 व चाइल्ड लाइन 1098, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, सुकन्या समृद्धि योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना व सरकार द्वारा चलायी जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के प्रति जागरूक करके बेटे और बेटियों के बीच समाज में फैले हुए भेदभाव को पूर्ण रुप से समाप्त करने, बाल-विवाह की कुप्रथा को रोकने, कन्या भ्रूण हत्या पर लगाम लगाने के साथ बालिकाओं के शिक्षा, स्वास्थ्य एवं पोषण के प्रति जागरूक किया गया व शपथ दिलाया गया। सोशल एक्टिविस्ट धर्मेन्द्र जायसवाल ने कहा कि बालिकाओं को शिक्षित करना बहुत जरुरी है क्योंकि बालिकाओं को शिक्षित किये बिना किसी भी देश के विकास की कल्पना करना नामुमकिन है, बेटियां जब शिक्षित होंगी तभी वह सशक्त और सामर्थ्यवान बनेंगी तथा अपने अधिकारों एवं हक के लिए स्वयं ही लड़ सकेंगी। उन्होने कहा कि बालिकाओं और महिलाओं के साथ होने वाले भेदभावों और अपराधों से निपटने के लिए केवल कानून का होना ही पर्याप्त नहीं है बल्कि उन सभी कानूनों के प्रति जागरूकता व चेतना भी आवश्यक है।