रिपोर्ट, वरुण सिंह

(अजमतगढ़) आजमगढ़। नगर पंचायत अजमतगढ़ की पूर्व चेयरमैन व भाजपा के वरिष्ठ नेता अरविंद जायसवाल की पत्नी नीतू जायसवाल के पक्ष में सगड़ी विधानसभा के पूर्व विधायक वंदना सिंह अजमतगढ़ के ब्लाक पमुख मनीष मिश्रा के अलावा भाजपा के तमाम वरिष्ठ नेता प्रचार अभियान में जुट गए हैं, पूर्व विधायक बंदना व प्रमुख मनीष मिश्रा के चुनाव प्रचार में उतरने से अजमतगढ़ का समीकरण में तेजी से बदलाव आता दिख रहा है, मंगलवार को चुनाव प्रचार थमने के बाद भाजपा कार्यकर्ता डोर टू डोर घरों पर जाकर के लोगों से भाजपा प्रत्याशी नीतू जायसवाल के लिए वोट मांग रहे हैं, वरिष्ठ भाजपाइयों के प्रचार से अजमतगढ़ का माहौल काफी गर्म हो चुका है, और भाजपा निरंतर अपनी बढ़त बनाई हुई है, वहीं पूर्व विधायक बंदना सिंह ने कहा कि नीतू जायसवाल पहले भी नगर पंचायत अजमतगढ़ की दो बार अध्यक्ष रह चुकी हैं, और नीतू जायसवाल ने अपने कार्यकाल में अजमतगढ़ का काफी विकास किया, इस समय अजमतगढ़ का विकास थम चुका था, अब नीतू जायसवाल चुनाव जीतकर के अजमतगढ़ का विकास करने का कार्य करेंगी, वहीं ब्लाक प्रमुख मनीष मिश्रा ने कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं के दम पर आजमगढ़ की सभी 16 सीटों पर चुनाव जीतने का कार्य करेगी, उन्होंने जनता से आह्वान किया कि भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी नीतू जायसवाल को भारी मतों से जिताने का कार्य करें ‌। प्रत्याशी नीतू जायसवाल ने कहा कि अजमतगढ़ की जनता ने हमें और हमारे पति अरविंद जायसवाल को हमेशा आशीर्वाद देकर चेयरमैन बनाने का कार्य किया, कहा की जब मेरे पति और मैं चेयरमैन थी, उस दौरान अजमतगढ़ का काफी विकास हुआ, लेकिन आज विकास अजमतगढ़ का पूरी तरह से अवरुद्ध हो चुका है। भ्रष्टाचार इस कदर था की अजमतगढ़ की जनता त्राहि-त्राहि करने लगी थी। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा अब अजमतगढ़ नगर का विकास होगा कारण कि हमेशा हम और हमारे पति अजमतगढ़ के विकास के लिए हमेशा कार्य किया है। बता दें कि भाजपा नेता अरविंद जायसवाल की लोकप्रियता इस कदर है कि लगातार 17 वर्षों तक चेयरमैन के पद को सुशोभित किया। सन 2 हजार में पहली बार अरविंद जायसवाल बने तो वहीं दो बार उनकी पत्नी नीतू जायसवाल अध्यक्ष पद का कार्यभार संभाल चुकी हैं, इसके पहले सीट सुरक्षित हो जाने के कारण अरविंद जायसवाल या उनकी पत्नी चुनाव नहीं लड़ पाई थी, लेकिन इस बार सीट बैकवर्ड होने के बाद अरविंद जायसवाल की पत्नी पूर्व चेयरमैन नीतू जायसवाल ने नामांकन दाखिल कर के यह साबित कर दिया कि अगर कोई चेयरमैन पद का दावेदार है तो वह है नीतू जायसवाल।