आजमगढ़। हरिऔध कला केंद्र आजमगढ़ में 18 से 24 सितंबर 2023 तक आजमगढ़ महोत्सव-2023 के अंतर्गत चलने वाले कार्यक्रम का शुभारंभ अंगीरा भारद्वाज द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर सर्वोदय पब्लिक स्कूल की छात्र-छात्राओं द्वारा गणेश वंदना की प्रस्तुति की गई। साथ ही सर्वोदय पब्लिक स्कूल की छात्राओं द्वारा राजस्थानी गाने पर फोक डांस की प्रस्तुति की गई। इसी के साथ ही हुनर संस्थान आजमगढ़ द्वारा आजमगढ़ महोत्सव की थीम सॉन्ग पर नृत्य तथा राहुल संस्कृत्यायन जन इंटर कॉलेज आजमगढ़ द्वारा नृत्य की प्रस्तुति की गई, जो काफी मनमोहक रहा। मुख्य विकास अधिकारी ने जनपद वासियों, सांस्कृतिक कलाकारों से अनुरोध किया कि इस महोत्सव में बढ़ चढकर प्रतिभाग करें, जिससे कार्यक्रम को सफल बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रकार की गोष्ठीयाँ, पंडाल एवं स्वयं सहायता समूह के उत्पादों को प्रोत्साहित करें। जनपद में एक नई धारा के प्रवाह में अपना योगदान दें। उन्होंने कहा कि ओडीओपी के प्रोडक्ट को आगे बढ़ाने में किस प्रकार से कार्य किया जा सके, उस पर विचार करने की आवश्यकता है। अंगीरा भारद्वाज ने कहा कि आजमगढ़ महोत्सव में बहुत से अच्छे कार्यक्रम किया जा रहे हैं, इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सभी अधिकारियों एवं अन्य लोगों का प्रयास काफी सराहनीय है। उन्होंने सभी से अनुरोध किया कि कार्यक्रम के अंतर्गत आने वाली कमियों को ध्यान न दें, क्योंकि किसी भी बड़े कार्यक्रम को कराने में गलतियां तो होती होती है। उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा 4 साल बाद पुनः कोशिश की गई है कि आजमगढ़ महोत्सव को सफलतापूर्वक संपन्न कराया जा सके। उक्त के उपरांत अंगीरा भारद्वाज, मुख्य विकास अधिकारी श्रीप्रकाश गुप्ता, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व आजाद भगत सिंह तथा आकांक्षा समिति की अध्यक्ष द्वारा सर्वोदय पब्लिक स्कूल, हुनर संस्थान एवं राहुल सांकृत्यायन जन इंटर कॉलेज आजमगढ़ के बच्चों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इसी के साथ ही सुरजन राम एंड पार्टी, चंद्रशेखर एंड पार्टी एवं अवनीश मिश्रा एवं ग्रुप द्वारा बिरहा की प्रस्तुति की गई। अंत में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व ने सभी को धन्यवाद एवं आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर एसडीएम सदर ज्ञानचंद गुप्ता, एसडीएम लालगंज, परियोजना अधिकारी डूडा अरविंद कुमार पांडेय सहित अधिक संख्या में आम जनमानस एवं विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।