वैशाली/हाजीपुर। विगत 28 अक्टूबर को राजनैतिक दलों के जिलाध्यक्षों के साथ बैठक कर जिलाधिकारी के द्वारा मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम की जानकारी दी गई थी जिसमें बताया गया था कि 27 अक्टूबर को मतदाता सूची का प्रारूप प्रकाशन कर दिया गया है और 9 दिसंबर तक दावा आपत्ति प्राप्त करने की तिथि निर्धारित की गई है।आज की बैठक में पिछले एक सप्ताह में हुई प्रगति की जानकारी दी गई। जिलाधिकारी ने बताया कि मतदाता सूची लिंगानुपात सुधारने के लिए चलाए जा रहे विशेष अभियान “अस्मिता“ के तहत 123-हाजीपुर विधानसभा क्षेत्र में कुल 4226 महिला एवं 1322 पुरुष तथा सहित कल 5548 नए प्राप्त आवेदनों का डिजिटाइजेशन किया गया है। इसी प्रकार 124-लालगंज विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत 5568 महिला 2441 पुरुष सहित कुल 8009 आवेदन को डिजिटाइज किया गया है, 125-वैशाली विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत 3368 महिला एवं 1866 पुरुष सहित कुल 5234 प्राप्त नए आवेदन ऑन को डिजिटाइज़ किया गया है। 126-महुआ विधानसभा अंतर्गत 3779 महिला 1967 पुरुष, 127-राजापाकर विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत 2828 महिला एवं 1032 पुरुष,128 राघोपुर विधान सभा क्षेत्र अंतर्गत 2828महिला तथा 640 पुरुष,129-महनार विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत 1706 महिला एवम 931 पुरुष तथा 130-पातेपुर विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत 3195 महिला एवं 759 पुरुष से प्राप्त नए आवेदनों का डिजिटाइजेशन किया गया है। इस प्रकार जिला में कु ल 27513 महिला एवं 10958 पुरुष से प्राप्त कुल 38471 नए आवेदनों को डिजिटाइज़ कर दिया गया है।
जिलाधिकारी के द्वारा बताया गया कि विशेष पुनरीक्षण अभियान से पहले मतदाता सूची लिंगानुपात 875 था जो अब बढ़कर 895 हो जाने का अनुमान है लेकिन इसे 900 के ऊपर ले जाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि 18-19 वर्ष के युवाओं का नाम निर्वाचन सूची में जोड़ने के लिए जिला में चलाए जा रहे विशेष अभियान“ पंख “के अंतर्गत स्कूली छात्र-छात्राओं से 3347 आवेदन प्राप्त किया गया है जिसमें 2162 को डिजिटाइज कर दिया गया है। जिला में चालीस से अधिक छात्र-छात्राओं को चिन्हित किया गया है इसके लिए सरकारी विद्यालयों में कैंप लगाया जा रहा है तथा निजी विद्यालयों के प्राचार्य के साथ बैठक की गई है और पुनः एक बैठक 6 नवंबर सोमवार को बुलाई गई है।
मतदाता सूची में दिव्यांग मतदाताओं को चिन्हित करने तथा छूटे हुए दिव्यांगजन का नाम मतदाता सूची में जोड़ने के लिए अभियान “सशक्त“के तहत प्रपत्र-6 में 946 आवेदन तथा प्रपत्र-8 में 1543 आवेदन प्राप्त किया गया है।इस क्रम में लगभग बारह हजार दिव्यांगजनों को चिन्हित किया गया है जिसके लिए प्रखंडों में कैंप लगाकर नाम जोड़ने वाले प्रपत्रों को भरवारा जा रहा है। जिलाधिकारी के द्वारा विधानसभा वार अभियान अस्मिता, अभियान पंख एवं अभियान सशक्त की पूरी जानकारी देते हुए इसकी विवर्णी राजनीतिक दलों के अध्यक्षों को बैठक में ही उपलब्ध करवाई गई। उन्होंने कहा कि सभी दल अपने बीएलए की सूची शीघ्र उपलब्ध करा दे तथा बीएलओ की कार्यों पर भी नजर रखें। अगर क्षेत्र में बीएलओ गड़बड़ी कर रहे हैं तो इसकी सूचना तुरंत वरीय पदाधिकारी को उपलब्ध करा दें। आगामी लोकसभा निर्वाचन को ध्यान में रखकर चुनाव आयोग के निर्देश पर जिला में कराया जा रहे एफएलसी के कार्यों के बारे में भी बताया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि यह कार्य हरिवंशपुर स्थित वेयरहाउस में चल रहा है जो 2 नवंबर से 20 नवंबर तक चलेगा। इसके लिए हैदराबाद से 15 अभियंताओं की टीम आई है जिसके देखरेख में पूरी पारदर्शिता के साथ एफएलसी का कार्य कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विगत दो दिनों में 420 बीयू, 420 सीयू तथा 420 वीवीपेट का जांच किया गया है। वैशाली जिला को 3400 बीयू, 3400 सीयू और 3600 वीवीपेट उपलब्ध कराया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि एफएलसी के कार्य में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को उपस्थित रहना जरूरी है।
बैठक में जिलाधिकारी के साथ अपर समाहर्ता ,उप विकास आयुक्त, उप निर्वाचन पदाधिकारी एवं जनता दल यू के जिला अध्यक्ष सुभाष चंद्र सिंह, राजद के जिला अध्यक्ष वैद्यनाथ सिंह चंद्रवंशी, बीजेपी के जिला मंत्री नवीन कुमार सिंह, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के जिलाध्यक्ष मनोज कुमार तिवारी, लोजपा( रामविलास) के अध्यक्ष राजीव कुमार सिंह, रालोजपा के मनोज कुमार सिंह,राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के जिला सचिव सुनील कुशवाहा, कम्युनिस्ट पार्टी(मार्क्सवादी) के अध्यक्ष राजेंद्र पटेल उपस्थित थे।