स्वतंत्र भारत से राजेश सिंह की रिपोर्ट, आजमगढ़ । अतरौलिया थाना क्षेत्र के वैशपुर गांव में बुधवार की रात दो पक्षों में मारपीट की सूचना पर पहुंची, पुलिस पर एक पक्ष द्वारा अचानक हमला कर दिया गया, इस हमले में कई पुलिसकर्मी जहां घायल हो गए हैं, वही हमला करने वाले लोगों ने पुलिस की जीप में भी तोड़फोड़ की, घटना की जानकारी होते ही भारी फोर्स के साथ पीएससी व आला अधिकारी मौके पर पहुंचकर स्थिति को सामान बनाने में लगे हुए थे, जानकारी के मुताबिक

अतरौलिया थाना क्षेत्र के वैशपुर गांव में 26 नवम्बर को राजू निषाद पुत्र हीरा निषाद और अरूण सिंह पुत्र श्याम कुंवर सिंह के मध्य मामूली बात को लेकर मारपीट की घटना हुई थी, जिसमें दोनो तरफ से उसी दिन एफआईआर दर्ज की गयी थी, वही एक पक्ष की तरफ राजू निषाद की तहरीर पर 388/23 धारा 323, 504, 506, 342 आईपीसी श्याम कुंवर सिंह व इनके 03 पुत्रों के विरूद्ध दर्ज की गयी थी तथा दूसरे पक्ष की तहरीर पर 387/23 धारा 323, 452, 504, 506, 34 भादवि श्याम कुंवर सिंह की तरफ से 6 नामजद लोगों के विरूद्ध दर्ज की गई थी। बुधवार को पुलिस को सूचना मिली दोनो पक्षों में झगड़ा होने की पुनः सम्भावना है, जिसे सुन तत्काल पुलिस मौके पर पहुंची, कि उसी बीच थाना प्रभारी अतरौलिया और उनके साथ मौजूद पुलिस के ऊपर गांव के कुछ लोगों द्वारा हमला किया गया, जिसमें थाना प्रभारी की गाड़ी का शीशा व एक अन्य पुलिस जीप का शीशा टूट गया, और पुलिस की दो जीप क्षतिग्रस्त हुई है, वहीं कई पुलिस कर्मियों को चोट भी लगी है। मौके एडीशनल एसपी, एसपी ट्रैफिक, सीओ और सर्किल के कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई है। पीएसी को भी मौके पर बुलाया गया है। मौके पर स्थिति पूर्णतः शान्तिपूर्ण है। मौके पर सभी पक्षों से वार्ता की जा रही है। पीड़ित मीरा, अशोक निषाद, नीलम,चंदन का आरोप है कि पुलिस हम लोगों के शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की, जबकि विपक्षी के कहने पर पुलिस कार्रवाई कर रही है। विपक्षी द्वारा लड़की को बंधक बनाकर काफी मारा पीटा गया है, जिससे उसकी हालत काफी नाजुक बनी हुई है। पीड़ित का यह भी आरोप है कि लड़की के साथ दुराचार भी किया गया है, जिसकी पुलिस निष्पक्ष जांच कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। लड़की के शरीर पर कई जगह पर चोट के निशान है, जिसे पुलिस अपनी जीप में लेकर मेडिकल के लिए गई थी, जीप में कोई महिला पुलिसकर्मी भी नही रही। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि स्थिति शांतिपूर्ण है, पीड़ित परिजनों से कार्यवाही को लेकर लगातार वार्ता कर सामंजस्य बनाया जा रहा है। तहरीर प्राप्त होते ही कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।